मेरठ, जेएनएन। सेना की चार्जिग रैम डिवीजन ने रेलवे क्रासिंग स्थित रामताल वाटिका का सौंदर्यीकरण कर एक बार फिर खोल दिया गया है। पर इस बार वाटिका में आम लोगों की एंट्री बंद कर दी गई है। इसमें अब केवल सेना के अफसरों, जेसीओ व जवानों के स्वजन ही जा सकते हैं। मंगलवार को छोड़कर सैन्य परिवार सुबह सात बजे से दोपहर 12 बजे तक और शाम चार बजे से सात बजे तक प्रवेश कर सकेंगे। वाटिका को चारों ओर से सुरक्षित व सुंदर बनाने के साथ ही सेना ने सुरक्षा व्यवस्था को चौकस कर दिया है।

दोपहर में होती है सैनिकों की ट्रेनिंग

रामताल वाटिका में दोपहर के समय सैनिकों की ट्रेनिंग भी कराई जा रही है। ट्रेनिंग में सैनिकों को पानी के भीतर अपने हथियार को सुरक्षित रखते हुए ऑपरेशनों में हिस्सा लेने की ट्रेनिंग दी जा रही है। सुरक्षा के लिहाज से पीछे की टूटी दीवार की भी मरम्मत कर कांटे का बेड़ा लगा दिया गया है।

सौंदर्यीकरण को दिया गया बढ़ाया

सेना की ओर से इससे पहले चार्जिग रैम मुख्यालय चौराहे के आस-पास रास्तों के किनारे वाटिका विकसित की गई थी। इसके साथ ही रैम पार्क को एक बार फिर सुसज्जित कर सौंदर्यीकरण को बढ़ाया गया है। डिव की ओर से रेवले क्रांसिग से रेलवे रोड तक के रास्ते की साफ-सफाई और सौंदर्यीकरण किया जा रहा है।

नवंबर में ही किया था आगाह

सेना ने नवंबर में ही वाटिका में गंदगी फैलाने वालों को आगाह करते हुए नोटिस जारी किया था। जिसमें लिखा गया था कि वाटिका के भीतर घूमने के दौरान गंदगी फैलाने पर वाटिका को आम लोगों के लिए बंद कर दिया जाएगा। इसके बाद भी गंदगी दिखने पर नवंबर के अंत तक पार्क को बंद कर सौंदर्यीकरण का काम शुरू हुआ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस