सहारनपुर, जागरण संवाददाता। ATS Arrested Suspects एटीएस (एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड) ने शनिवार दोपहर देवबंद के एक हास्टल से दो युवकों को उठाया है। बांग्लादेश और म्यामांर के मूल निवासी युवक देवबंद के किसी मदरसे के छात्र बताए जा रहे हैं। युवकों के मोबाइल नंबर की सीडीआर में पाकिस्तान में भी बातचीत होना सामने आया है। हालांकि आइजी एटीएस जीके गोस्वामी ने बयान जारी कर कहा कि युवकों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया है। इनसे मिले दस्तावेजों की छानबीन चल रही है। रविवार को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया है। 

गोपनीय स्थान पर हुई पूछताछ 

शनिवार दोपहर करीब डेढ़ बजे एटीएस की टीम ने देवबंद कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला खानकाह में दारुल उलूम रोड स्थित नजमी मंजिल नामक हास्टल में छापा मारा। हास्टल के कमरा नंबर 19 से दो युवकों को हिरासत में लिया। युवकों को सहारनपुर के एक गोपनीय स्थान पर ले जाकर काफी देर पूछताछ की गई।  सूत्रों का कहना है कि युवकों के मोबाइल फोन नंबर की सीडीआर में पाकिस्तान के नागरिकों से बातचीत होना सामने आया है। लेकिन युवकों ने कहा है कि पाकिस्तान में रिश्तेदार रहते हैं, उन्हीं से बातचीत होती है।  वहीं, इस बारे में एटीएस आइजी जीके गोस्वामी ने बयान जारी करते हुए बताया कि दोनों युवकों को राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के संदेह में उठाया गया था। 

तेलंगाना का पहचान पत्र जमा करके लिया कमरा  

हास्टल मालिक नजमी का कहना है कि 12 मार्च 2021 को उनके हास्टल में एक युवक आया था। उसने अपना नाम फैजुलहक निवासी सुलेमाननगर ग्राम आत्तपुर केवी रंगारेड्डी तेलंगाना बताया था। उसने इसी पते का पहचान पत्र भी जमा कराया। उसे कमरा नंबर 19 दिया था। नजमी का कहना है कि पहचानपत्र जमा कराए बगैर कमरा नहीं देते हैं। उसने एक ही युवक को कमरा दिया था। 

Edited By: Prem Dutt Bhatt