मेरठ, जेएनएन। ट्राई के नए नियमों को लागू करने के लिए दिशा निर्देश जारी होने के बाद से केबिल ऑपरेटरों और डीटीएच कंपनियों की मनमानी के चलते आम उपभोक्‍ता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि ट्राई ने नए नियमों को लागू करने के लिए अंतिम तिथि बढ़ाकर 31 मार्च कर दी है,लेकिन केबिल आपरेटरों ने निर्धारित तारीख से पहले ही कई चैनलों को बंद कर दिया है। इस कारण लोगों में गुस्‍सा है।
आपरेटरों के साथ अभद्रता
निर्धारित तिथि से पहले ही चैनल बंद करने से लोग केबिल आपरेटरों पर अपना गुस्सा उतार रहे हैं। वह उनके साथ गाली-गलौच एवं अभद्रता कर रहे हैं। कलक्टेट में पहुंचे आपरेटरों का कहना था कि मेरठ में 350 आपरेटर कार्यरत हैं। अभी ट्राई ने नया नियम लागू किया है। इस नियम में उपभोक्ताओं को अपने मनपंसद चैनलों को चुनने की आजादी दी है।
13 फरवरी से बंद हैं चैनल
इस नियम से उपभोक्ता असमंजस में हैं। जिस कारण ट्राई ने भी समय में परिवर्तन कर गत 12 फरवरी से 31 मार्च की तिथि निर्धारित कर दी है। उन्होंने यह आरोप लगाया कि इसके बावजूद मेंशन केबिल नेटवर्क प्राइवेट लिमिटेड ने तानाशाही व हठधर्मी रवैया अपनाते हुए मुख्य चैनलों का प्रसारण गत 13 फरवरी की रात 12 बजे से ही बंद कर दिया है। लोगों का कहना है कि निर्धारित समय अवधि से पूर्व चैनलों का प्रसारण क्‍यों बंद किया गया है।
केबिल आपरेटरों ने दिया ज्ञापन
उपभोक्ता नाराज होकर केबिल आपरेटरों व उनके कर्मचारियों के साथ अभद्रता कर रहे हैं। उन्होंने मांग की है कि 31 मार्च तक केबिल प्रसारण में सभी चैनलों का प्रसारण व्यवस्था सुचारू रूप से चलाने का प्रबंध किया जाए। केबिल आपरेटरों ने सिटी मजिस्टेट शैलेंद्र कुमार सिंह को ज्ञापन दिया। उन्होंने शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन दिया। ज्ञापन देने वालों में दुर्गेश शर्मा,विजय गुर्जर,दिनेश कुमार,मो.शमी आदि रहे। 

Posted By: Ashu Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप