बागपत, जेएनएन। नौवीं के छात्र आकाश की हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपित 25-25 हजार रुपये के इनामी पिता-पुत्र को मीतली गांव से ही गिरफ्तार किया। नौ आरोपितों को पहले ही जेल भेजा जा चुका है।

यह है मामला

ग्राम मीतली के खेमचंद के परिवार पर गत 21 मार्च की शाम मामूली विवाद पर पड़ोसी परिवार ने हमला किया था। इसमें खेमचंद, उनकी माता सतपाली, पिता पालेराम, पत्नी उर्मिला, बेटा आकाश, बेटी टीना, भाई सुनील घायल हुए थे। नौवीं के छात्र आकाश की गत आठ अप्रैल को दिल्ली के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। इससे पहले ही कोतवाली पर 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। पांच आरोपितों ने अदालत में आत्मसमर्पण तथा चार आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। केस के फरार दो आरोपित रामधन व सचिन उर्फ राहुल पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित था। जो रिश्ते में पिता-पुत्र है। पुलिस ने रविवार तड़के करीब 3.15 बजे मीतली गांव से ही दोनों आरोपितों गिरफ्तार किया।

कोतवाली एसएसआइ संजय कुमार का कहना है कि दोनों आरोपितों ने घटना में शामिल रहना स्वीकार किया है। पूछताछ में पता चला कि वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित दिल्ली चले गए थे। शनिवार रात किसी काम से अपने गांव से आए थे।

पीड़ितों की बात निकली सच, गांव से ही पकड़े गए आरोपित

छात्र आकाश के स्वजन पुलिस अफसरों से बार-बार कह रहे थे कि आरोपित गांव में ही खुलेआम घूम रहे हैं। आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएं। पुलिस ने आरोपित इनामी रामधन व उसके बेटे सचिन को मीतली गांव से ही गिरफ्तार किया। चार दिन पूर्व दो आरोपित इनामी श्रीपाल व उसके बेटे अरविंद भी गांव से ही गिरफ्तार किया था। 

Edited By: Taruna Tayal