मेरठ,जागरण संवाददाता। Agniveer Scheme अग्निपथ योजना के अंतर्गत अग्निवीर वायु बनने का अवसर दे रही वायुसेना स्कूलों में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं को जागरूक कर रही है। वायु सेना की ओर से देशभर में स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम चलाने के लिए बनाई गई 14 टीमों में से एक टीम मंगलवार को मेरठ पहुंची। नई दिल्ली स्थित वायू सेना के एयर फोर्स सिलेक्शन सेंटर से आए वायुसेना अधिकारियों ने राजकीय इंटर कॉलेज मेरठ और ऋषभ एकेडमी में सीनियर कक्षाओं में पढ़ रहे छात्र छात्राओं को अग्निवीर योजना के साथ ही वायु सेना में भर्ती की जानकारी दी।

सामान्य ज्ञान के सवाल भी पूछे

वायु सेना में अग्निवीर वायु के लिए फिलहाल छात्र ही आवेदन कर सकते हैं। वही वायुसेना में होने वाली अन्य भर्तियों में बालक बालिकाएं दोनों आवेदन कर सकते हैं। जागरूकता कार्यक्रम में अधिकारियों ने छात्रों से वायु सेना के बारे में सामान्य ज्ञान के सवाल भी पूछे। इसके साथ ही उन्होंने वायु सेना के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करने के साथ ही अग्निवीर योजना के लाभ, प्रशिक्षण आदि की विस्तार से जानकारी प्रदान की। पीपीटी प्रेजेंटेशन के माध्यम से वायु सेना अधिकारियों ने छात्रों को बताया कि किस तरह से अग्निवीर योजना के तहत आवेदन किए जा सकते हैं। क्या चयन की प्रक्रिया होगी। उसके लिए क्या योग्यता होनी चाहिए और चयन के बाद प्रशिक्षण और फिर ड्यूटी किस तरह से कराई जाएगी।

बहुत अच्छा रहा विद्यार्थियों का रुझान

दोनों ही स्कूलों में छात्र-छात्राओं ने अग्निवीर योजना के बारे में जानने में काफी उत्सुकता दिखाई। अब तक विभिन्न माध्यमों से सुनी अफवाहों के बारे में भी उन्होंने सवाल पूछा और उसका सही जवाब हासिल किया। ऋषभ एकेडमी में कक्षा 12वीं की छात्रा ने बताया कि यह इतनी अच्छी योजना है जिसमें चार साल देश की सेवा करने का मौका मिलने के साथ ही हमें प्रशिक्षण और बहुत कुछ सीखने को भी मौका मिलेगा। अग्निवीर में फिलहाल बालिकाएं नहीं जा सकती लेकिन जब भी बालिकाओं की भर्ती खुलेगी वह जरूर जाना चाहेंगी। कक्षा 12वीं की ही दीपांशी ने कहा कि अग्निवीर को लेकर अब तक जितनी भी नकारात्मक जानकारियां हमारे पास आई हैं। उससे कहीं ज्यादा सकारात्मक बातें इस योजना में निहित हैं जो लोगों को जानना चाहिए और उसी के अनुरूप इसमें शामिल होने की योजना बनानी चाहिए।

कक्षा नौवीं के गर्व अरोड़ा ने बताया इस योजना से हम फिटनेस पा सकते हैं और पैसा भी पा सकते हैं। सेना की वर्दी मिलेगी वह अलग और उसके बाद आगे पढ़ाई या नौकरी भी कर सकेंगे। रौनक गुप्ता ने बताया कि वायु सेना अधिकारियों ने जो अग्निवीर के बारे में बताया उससे हमें इसमें जाने की प्रेरणा मिलती है। यह योजना नौकरी की तर्ज पर नहीं देखी जानी चाहिए। यह देश सेवा है और इसके बदले हमें अच्छी खासी धनराज भी मिलेगी।

प्रिंसिपल ने यह बताया

ऋषभ अकेडमी के प्रिंसिपल मुकेश कुमार ने बताया कि स्कूल की ओर से एनसीसी के लिए आवेदन किया गया है। स्कूल में एनसीसी के एयरफ़ोर्स स्विंग से मान्यता लेने की कवायद चल रही है जिससे यहां एसीसी में प्रशिक्षण लेकर युवा वायु सेना में करियर बना सकें। राजकीय इंटर कॉलेज मेरठ के प्रधानाचार्य सुनील भड़ाना के अनुसार कॉलेज में एनसीसी बहुत पहले से ही है और युवा सशस्त्र सेनाओं में जाने के इच्छुक भी रहते हैं। ऐसे में वायुसेना अधिकारियों द्वारा अग्निवीर को लेकर दी गई जानकारी छात्रों के लिए उपयोगी साबित होगी।

Agnipath Scheme Protest: अग्निपथ योजना को लेकर फैलाई जा रहीं कई अफवाह, जानिए- क्‍या है सच्‍चाई

Edited By: Prem Dutt Bhatt