मेरठ,जेएनएन। महामारी में नियम-कानून को ताक पर रखने से लोग बाज नहीं आ रहे। कोरोना काल के दौरान 15 माह में जनपद के 30 थानों में महामारी एक्ट के तहत सात हजार 156 मुकदमे पंजीकृत हो चुके हैं। इसके बाद भी बागपत रोड, खत्ता रोड, लिसाड़ी रोड और शारदा रोड पर भीड़ कम नहीं हो रही है। कप्तान ने थाना प्रभारियों को सख्ती से लाकडाउन का पालन कराने के निर्देश दिए हैं।

मार्च 2020 से 16 अप्रैल 2021 तक पुलिस ने लाकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर मुकदमे पंजीकृत किए। सरकार ने इन मुकदमों को वापस लेने का निर्णय किया था। कोई लिखित आदेश नहीं आने पर सभी मुकदमों की विवेचना प्रचलित है। कुछ मुकदमों में जुर्माना वसूल कर निस्तारण भी किया जा चुका है। इसके बाद भी लोग लाकडाउन में बेवजह सड़कों पर घूमने से बाज नहीं आ रहे। नौचंदी, टीपीनगर, ब्रह्मपुरी और लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र में लाकडाउन का सख्ती से पालन नहीं कराया जा रहा है। बागपत रोड पर हर समय लोगों की भीड़ जमा रहती है। यही हाल शारदा रोड और खत्ता रोड तथा ट्यूबवेल तिराहे का है। पुराने ब्रह्मपुरी सीओ आफिस के पास की दुकानें भी हर रोज खोली जा रही हैं। लिसाड़ी रोड और शास्त्रीनगर के सेक्टर नौ और आरटीओ रोड पर भी लोगों की भीड़ जमा रहती है। पुलिस दावा कर रही है कि कोरोना काल में करीब पांच करोड़ का जुर्माना लोगों से वसूला जा चुका है। नवीन मंडी की भीड़ भी नियंत्रित नहीं हो पा रही। सिर्फ फैंटम के सहारे मंडी की भीड़ को रोका नहीं जा सकता है। एसएसपी अजय साहनी का कहना है कि सभी थाना प्रभारियों को सख्ती से लाकडाउन का पालन कराने के निर्देश दिए हैं। जिस क्षेत्र में लोगों की भीड़ जमा दिखाई दी, उस थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पांच करोड़ का वसूला जा चुका जुर्माना

-सार्वजनिक स्थान पर मास्क नहीं लगाने पर 103463 का चालान और दो करोड़ का जुर्माना वसूला।

-लाकडाउन में बेवजह घर से निकलने पर 10864 का चालान व दो करोड़ 88 लाख का जुर्माना वसूला

-दो पहिया वाहन की पिछली सीट पर यात्रा करने पर 9066 चालान और 44 लाख 25 हजार जुर्माना वसूला।