मेरठ, जेएनएन। विधानसभा चुनाव के लिए नामाकन की प्रक्रिया चल रही हैं। उधर, पुलिस ने मतदान के समय शाति व्यवस्था कायम करने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है। सात विधानसभा में चुनाव में शाति व्यवस्था के लिए खतरा बने पाच हजार लोगों को चिन्हित किया गया है। सभी पर मुचलका पाबंद की कार्रवाई की गई। साथ ही 190 अपराधियों पर जिला बदर की कार्रवाई की गई है। यानि छह माह तक उनके जनपद में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। ये ऐसे अपराधी है, जो चुनाव को सीधे प्रभावित कर सकते है।

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि विधानसभा चुनाव को देखते हुए पुलिस ने सभी तैयारी कर ली है। सभी विधानसभा में बवाली लोगों को चिन्हित कर लिया है। पाच हजार से ज्यादा लोगों पर मुचलका पाबंद की कार्रवाई की गई। उसके बाद भी उक्त लोगों ने चुनाव प्रभावित करने की कोशिश की तो बड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही 190 लोग ऐसे में मिले है, जो चुनाव को सीधे प्रभावित कर सकते है। उनको छह माह के लिए जनपद से बाहर कर दिया है। उससे पहले भी 15 लोग पहले से जिला बदर किए गए है, जो हाल में जनपद से बाहर चल रहे है। उनका भी छह माह का अतिरिक्त समय बढ़ा दिया है। उक्त सभी की थाने स्तर पर निगरानी करने के निर्देश दिए गए है। 225 गैंगस्टर और एक हजार हिस्ट्रीशीटर बनाए

विधानसभा चुनाव में सुरक्षा को देखते हुए पुलिस ने 225 लोगों पर गैंगस्टर की कार्रवाई की गई है। साथ ही एक हजार हिस्ट्रीशीटर बनाए गए है। 67 लोगों की हाल ही में हिस्ट्रीशीट खोली जा चुकी है। ताकि चुनाव में शाति व्यवस्था को भंग नहीं कर सकें। उक्त सभी आरोपितों की पुलिस समय समय पर निगरानी करेगी। ऐसे में अपराधियों की सूची बनाकर थाने में लगाने के आदेश दिए जा रहे है। ताकि पोलिंग बूथ पर भी ऐसे लोगों को निगरानी रखी जा सकें। गैंगस्टर के मामलों में सभी आरोपितों की संपत्ति की जाच भी की जा रही है। ताकि अवैध तरीके से कमाई संपत्ति को जब्तीकरण किया जा सके।

---

विधान सभा चुनाव में शांति भंग करने वाले लोगों की सूची बना ली गई है। ऐसे लोगों को स्थानीय थाना स्तर पर विशेष नजर रखी जाएगी। साथ ही गैंगस्टर एक्ट में आरोपित बने अपराधियों की संपत्ति की भी जाच की जा रही है। जिला बदर अपराधियों को जनपद में देखने पर तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा।

-प्रभाकर चौधरी, एसएसपी

Edited By: Jagran