शामली, जेएनएन। टीईटी परीक्षा का पेपर आउट करने के मामले में फरार चल रहे आरोपितों की तलाश में पुलिस की दबिश जारी है। जेल गए तीन आरोपितों को रिमांड पर लेकर एसटीएफ पूछताछ करेगी। शासन के आदेश पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ गैंगस्टर की तैयारी भी शुरू कर दी है।

रव‍िवार को लीक हुआ पेपर

रविवार को पूरे प्रदेश में टीईटी की परीक्षा थी, लेकिन शामली में यह पेपर समय से पहले लीक हो गया था। इस मामले में शनिवार रात एसटीएफ ने शामली के झाल गांव निवासी मनीष उर्फ मोनू, बुटराडी गांव निवासी धर्मेंद्र व नाला गांव थाना कांधला निवासी रवि पंवार को गिरफ्तार किया था। इनके पास से एक ओरिजनल पेपर, नौ फोटो स्टेट पेपर, चार प्रवेश पत्र, सत्रह हजार रुपये नकद, पेन ड्राइव व एक कार मिली थी। कांधला के नाला गांव निवासी अजय उर्फ बबलू भाग गया था। एसटीएïफ के इंस्पेक्टर सुनील कुमार ने सभी पर मुकदमा दर्ज कराया था। रविवार को शामली कोतवाली पुलिस ने पकड़े गए तीन आरोपितों को जेल भेज दिया था। फरार आरोपित अजय उर्फ बबलू की तलाश में पुलिस ने रविवार रात कई स्थानों पर दबिश दी, लेकिन वह हत्थे नहीं चढ़ा। सूत्रों के मुताबिक जेल गए तीनों आरोपितों को रिमांड पर लेने की तैयारी एसटीएफ ने शुरू कर दी है। जल्द ही इसके लिए कोर्ट में अर्जी दी जाएगी। एसटीएफ व शामली कोतवाली पुलिस ने इस प्रकरण की संयुक्त रूप से जांच शुरू कर दी है।

अभी कई सवालों के जवाब तलाश करेगी पुलिस

जेल गए तीनों आरोपितों को रिमांड पर लेकर एसटीएफ व शामली पुलिस पूछताछ करेगी। रविवार को जेल भेज गए तीनों आरोपितों से स्थानीय पुलिस व एसटीएफ ज्यादा पूछताछ नहीं कर सकी थी। जिसके चलते कई सवालों के जवाब अभी पुलिस को तलाशने है।

अलीगढ़ निवासी शातिर के खिलाफ भी मुकदमा

एसटीएफ ने एक फरार व तीन गिरफ्तार युवकों को तो मुकदमे में आरोपित बनाया है। साथ ही इन युवकों को पांच लाख में पेपर बेचने वाले अलीगढ़ जिले के हजियापुर गांव, थाना टप्पल निवासी गौरव पुत्र प्रमोद के अलावा दो अन्य लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया है।

इनका कहना है...

शामली पुलिस के अलावा एसटीएफ भी कार्रवाई में जुटी है। एसटीएफ आरोपितों को रिमांड पर ले सकती है। आरोपितों पर गैैंगस्टर भी लगाई जाएगी।

-सुकीर्ति माधव, पुलिस अधीक्षक। 

Edited By: Taruna Tayal