मेरठ, जागरण संवाददाता। UP Assembly Elections 2022 मेरठ में सात दिसंबर को सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव और रालोद अध्‍यक्ष जयंत चौधरी संयुक्‍त रूप से रैली को संबोधित करेंगे। इसके लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का कार्यक्रम निर्धारित हो गया है। सात दिसंबर को अखिलेश यादव दबथुआ में जयंत चौधरी के साथ रैली करेंगे। तैयारी को अंतिम रूप देने और व्यवस्था देखने के लिए सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल समेत कई नेता चार दिसंबर से ही मेरठ में डेरा डाल देंगे। सात तक ये नेता यहीं रहेंगे।

बुधवार को बुलाई गई बैठक

रैली की तैयारी के लिए बुधवार को पार्टी कार्यालय जेल रोड पर बैठक बुलाई गई है। इसमें वरिष्ठ नेता, पदाधिकारी, कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे। सपा जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह ने बताया कि रैली ऐतिहासिक होगी। बड़ी संख्या में लोग पहुंचेंगे। रालोद नेता भी अपने स्तर से तैयारी में जुटे हैं।

रैली का सफल बनाने की अपील

गौरतलब है कि लखनऊ में समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव और राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी जयंत सिंह के बीच मुलाकात के बाद संभावित गठबंधन को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई थी। रालोद के जिलाध्यक्ष मतलूब गौड़ ने बताया था कि सात दिसंबर को दबथुवा में होने वाली परिवर्तन संकल्प रैली में जयंत के साथ अखिलेश भी आएंगे। इसी कार्यक्रम को लेकर सोमवार को अखिलेश यादव के मेरठ आने के दौरे पर मुहर लगी है। दोनों दलों के नेताओं ने रैली को सफल बनाने की अपील की।

मिशन 2022 की तैयारियां

वहीं रालोद के क्षेत्रीय अध्यक्ष यशवीर सिंह ने कहा कि यह रैली प्रदेश में नया संदेश देने का काम करेगी। इसके साथ ही पूर्व विधायक गुलाम मोहम्मद ने कहा कि सात दिसंबर को होने वाली रैली में भारी भीड़ जुटेगी। पूर्व विधायक योगेश वर्मा ने कहा कि दोनों शीर्ष नेताओं के आगमन से लोगों में जबरदस्त उत्साह है। रालोद और सपा कार्यकर्ता रैली को सफल बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। सपा नेता अतुल प्रधान ने कहा कि सपा और रालोद का गठबंधन विधानसभा चुनाव में भाजपा को करारी शिकस्त देगा। सपा और रालोद मिशन 2022 की तैयारियों में जुट गई है।

Edited By: Prem Dutt Bhatt