मेरठ, जागरण संवाददाता। Army jawan died of dengue मेरठ में डेंगू का कहर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। यहां लावड़ इलाके के चिंदौडी गांव निवासी सेना के जवान की डेंगू से मौत हो गई। आर्मी में नायाब सूबेदार के पद पर तैनात राजदीप 28 पुत्र इंद्रपाल की पोस्टिंग पंजाब के फरीदकोट में थी। बताया जा रहा है कि डेंगू के कारण उनकी आकस्मिक मौत हो गई। पुलिस ने अस्पताल में ही पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

फरीदकोट में थी पोस्‍टिंग

जानकारी के मुताबिक राजदीप 28 पुत्र इंद्रपाल निवासी गांव चिंदौड़ी थाना इंचौली के है। वर्तमान में इनकी पोस्टिंग पंजाब के फरीदकोट में चल रही थी। इनके चचेरे भाई दीपू ने बताया 10 दिन पहले उनका भाई गांव चिंदौड़ी स्थित आवास पर छुट्टी आया था। लगभग चार दिन पहले बुखार हुआ तो लावड़ स्थित एक प्राइवेट चिकित्सक को उपचार के लिए दिखाया। जिसने टेस्ट कराया तो उन्हें डेंगू की पुष्टि हुई।

इलाज के दौरान मौत

इसके बाद राजदीप को मोदीपुरम स्थित एसडीएस ग्लोबल अस्पताल में भर्ती कराया जहां रविवार सुबह उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई। मौत की खबर सुनते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पत्नी नीतू, बड़ा छह वर्षीय बेटा आर्य व छोटा दो वर्षीय बेटा आरव का रो-रोकर बुरा हाल था। राजदीप अपने पिता के अकेले बेटे थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

डेंगू के 33 मरीज मिले

मेरठ : डेंगू संक्रमण गांवों से शहर तक फैल चुका है। स्वास्थ्य विभाग तकरीबन हर पैमाने पर फेल रहा। शनिवार को 33 नए मरीज मिले, और मरीजों की कुल संख्या 1047 तक पहुंच गई। अब तक चार मरीजों के मरने की पुष्टि हुई है। नए 33 मरीजों में से 20 शहर में और 13 ग्रामीण क्षेत्रों में मिले हैं। मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान ने बताया कि अब तक शहरी क्षेत्रों में 547, जबकि ग्रामीण इलाकों में 500 डेंगू मरीज मिल चुके हैं। मलेरिया विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक छह सौ से ज्यादा लोगों को नोटिस जारी किया जा चुका है। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि ठंड के साथ बुखार, सिर एवं जोड़ों में तेज दर्द, उल्टी, दस्त, बेहोशी, गफलत, कमजोरी एवं अन्य लक्षणों के साथ बीमारी प्रकट हो सकती है।

Edited By: Prem Dutt Bhatt