मेरठ, जागरण संवाददाता। Online Fraud मेरठ में आनलाइन ठगी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। रोजाना ही लोग शिकार हो रहे हैं। छात्र को ठगों ने बातों में फंसाकर एक एप मोबाइल में डाउनलोड करा दिया, जिसके बाद उसके खाते में सेंधमारी कर दी। पीड़ित ने बैंक खाता सीज कराते हुए साइबर सेल में शिकायत की। वहीं दूसरी ओर फेसबुक पर दोस्ती कर हनी ट्रैप में फंसाकर व्यापारी से 20 हजार रुपये ऐंठ लिए गए।

एनीडेस्क एप डाउनलोड को बोला

मेडिकल थाना क्षेत्र निवासी आर्यन सीसीएसयू का छात्र है। उसने बताया कि दो दिन पहले उसके पास काल आई थी। कालर ने उसे बातों में फंसा कर एनीडेस्क एप डाउनलोड करने के लिए कहा। पहले तो उन्होंने मना कर दिया था, लेकिन फिर उसकी बातों में आ गए। इसके बाद ठग ने उनके मोबाइल को अपने कंट्रोल में ले लिया और खाते की जानकारी लेकर 17 हजार रुपये निकाल लिए।

साइबर सेल करेगी जांच

उन्होंने तुरंत ही बैंक खाते को बंद करा दिया था, लेकिन रुपये कट चुके थे। इसके बाद उन्होंने ठग के मोबाइल पर काल किया, लेकिन फोन नहीं उठा। वह छात्र नेता विनीत चपराणा के साथ साइबर सेल के आफिस गए और मामले की जानकारी दी। साइबर सेल प्रभारी ने बताया कि एप डाउनलोड कराकर ठगी के मामले सामने आ रहे हैं। इसके लिए लोगों का जागरूक होना जरूरी है। ठगी की घटनाएं तभी रुक सकती है। रुपये वापसी के प्रयास किए जा रहे हैं।

हनी ट्रैप में फंसाकर व्यापारी से 20 हजार रुपये ऐंठे

मेरठ : फेसबुक पर दोस्ती कर हनी ट्रैप में फंसाकर व्यापारी से 20 हजार रुपये ऐंठ लिए गए। व्यापारी ने रुपये देने से मना कर दिया तो आरोपितों ने अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी दी। पीडि़त व्यापारी ने थाने में तहरीर दी। यहां से उन्हें साइबर सेल भेज दिया। सिविल लाइन थाना क्षेत्र की एक कालोनी निवासी स्पोट्र्स व्यापारी के मुताबिक कुछ दिन पहले उन्हें नेहा नाम की युवती ने फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। उन्होंने रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली और बातें शुरू हो गईं। एक सप्ताह पहले युवती ने व्यापारी को देर रात वीडियो काल की और अश्लील बातें करने लगी।

ऐसे उड़े व्‍यापारी के होश

व्यापारी युवती के झांसे में आ गया और उसने भी अश्लीलता की। साइबर अपराधियों ने वीडियो रिकार्ड कर व्यापारी के वाट्सएप नंबर पर भेज दी। इसे देखकर व्यापारी के होश उड़ गए। अपराधियों ने वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर व्यापारी से 20 हजार रुपये ऐंठ लिए। इसके बाद आरोपित और रुपये मांगने लगे। साइबर सेल प्रभारी राघवेंद्र सिंह का कहना है कि व्यापारी की तहरीर पर आरोपितों की तलाश की जा रही है, जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

ठगी करने पहुंचे तीन युवक पकड़े

मेरठ के नौचंदी थानाक्षेत्र के नेहरू नगर निवासी राजीव पांडेय एसोसिएट प्रोफेसर हैं। राजीव ने बताया कि उनके घर में निर्माण कार्य चल रहा है। दो दिन पहले डस्ट की ट्राली आई थी। इसके बाद दो युवक घर आए और पत्नी से रुपये देने को कहा। पत्नी ने उन्होंने पांच हजार रुपये दे दिए। राजीव ने दुकानदार से बात की तो उसने रुपये मंगाने से इन्कार किया। उन्होंने पुलिस से शिकायत करते हुए वार्ड के वाट्सएप ग्रुप में भी जानकारी डाल दी। शुक्रवार को एक युवक वैशाली कालोनी निवासी विशाल गुप्ता से किस्त लेने पहुंचा तो उन्होंने पुलिस को सूचना दे दी। बताया कि कोई किस्त उनको नहीं देनी। युवक ने अपने दो साथियों को भी बुला लिया। पुलिस तीनों को थाने ले आई। राजीव भी थाने पहुंच गए। उन्होंने दो युवकों की पहचान करते हुए तहरीर दी है। 

Edited By: Prem Dutt Bhatt