मेरठ, जागरण संवाददाता। International Girl Child day 2021 अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर बेटियां फाउंडेशन द्वारा संत देवाश्रम स्कूल शास्त्री नगर में कार्यक्रम किया गया। जिसमें सुधा अरोड़ा ने छात्राओं को 11 अक्टूबर अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर बालिकाओं को उनके अधिकारों के संरक्षण व उनके सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में जागरूक किया। उन्होंने बताया कि इस दिन को मनाने का मूल उद्देश्य यही है कि वे जान सके कि उनके सामने आने वाली कठिनाइयों का वह सामना कर सकती हैं।

शिक्षा के प्रति जागरूक

उपाध्यक्ष डॉ क्षमा चौहान ने छात्राओं को कहा कि देश में लड़कियों के प्रति भेदभाव मिटाने उन्हें शिक्षा के प्रति जागरूक करना है। बेटियां समाज में कितनी महत्वपूर्ण है किसी ने सच कहा है कि बेटियां न हो तो परिवार परिवार नही और समाज एक जंगल की तरह दिखाई देगा। इस अवसर पर अध्यक्ष अंजू पाण्डेय ने बताया कि बेटी होना हम सब के लिए गर्व की बात है क्योंकि देश की आधी आबादी एक बेटी ही परिवार व समाज बनाती है। यदि वह कलम उठा ले तो इतिहास बदल सकती है और कदम उठा ले तो भविष्य बना सकती हैं। हमें ऐसे कार्य करने चाहिए जिससे हम दूसरों को भी सही दिशा दे सके। हमारी आवाज ही हमारा भविष्य है। इस अवसर पर संस्था द्वारा छात्राओं को यूनिफार्म दी गई।

छात्राएं हुईं सम्मानित

संस्था की ओर से मीनू बाना व विनीता द्वारा सातवीं की छात्रा चंचल को सम्मानित किया गया। जिसने शानदार गीत की प्रस्तुति देकर तालियां बटोरी व अन्य छात्राओं को भी कुछ लक्ष्य बनाने को उत्साहित व जागरूक किया। बताया कि भारत सरकार ने भी राष्ट्रीय अभियान के माध्यम से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की शुरुआत कर बालिकाओं को जागरूक करने व उनकी भलाई की ओर सक्रिय कदम बढ़ाया व उनके सपनों को पूरा करने के लिए कदम उठाने पर ध्यान केंद्रित किया।

Edited By: Prem Dutt Bhatt