मेरठ, जागरण संवाददाता। Lover couple ate poison मेरठ में बेगमपुल स्थित सिंह होटल में प्रेमी-युगल ने जहर खा लिया। हालत बिगडऩे पर दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। स्वजन दोनों को अपने साथ ले गए। युवक के मामा ने दोनों की हालत खतरे से बाहर बताई है।

स्‍वजन ने किया था शादी से इंकार

मुजफ्फरनगर जिले के आलमवाला निवासी एक युवक हरिद्वार में बीएससी की पढ़ाई कर रहा है। साथ ही एक निजी कंपनी में काम करता है। वहीं पर चमोली (उत्तराखंड) निवासी युवती भी पढ़ाई कर रही थी। दोनों में प्यार हो गया। अलग-अलग बिरादरी के होने के कारण युवती के स्वजन ने शादी से इन्कार कर दिया। पांच दिन पहले दोनों हरिद्वार से कहीं चले गए। शुक्रवार को दोनों ने खुद को पति पत्नी बताते हुए बेगमपुल के सिंह होटल में शाम पांच बजे कमरा लिया। एक साथ खाना खाने के बाद दोनों सो गए।

मामा ने कहा कि जहर खा लिया है

शनिवार को युवक ने होटल के मैनेजर के मोबाइल से अपने मामा को काल कर बताया कि दोनों ने जहर खा लिया है। मामा ने होटल के मैनेजर को इसकी जानकारी दी। मैनेजर रूम में गया तो देखा दोनों बदहवास हालत में थे। दोनों को जब होटल से बाहर निकाला जा रहा था, तभी मामा भी पहुंच गए। दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जिला अस्पताल की तरफ से सदर बाजार थाना पुलिस को जानकारी दी गई।

हालत खतरे से बाहर

इसी बीच युवती के स्वजन भी आ गए। दोनों को जिला अस्पताल से देहरादून जौली ग्रांट स्थित मेडिकल कालेज के लिए रेफर कराकर चले गए। जब तक एसआइ सुनील कुमार मौके पर पहुंचे तब तक स्वजन दोनों को ले गए थे। फोन पर मामा ने बताया कि दोनों की हालत खतरे से बाहर है। दोनों ने स्वजन को डराने के लिए नींद की गोलियां खा ली थी। स्वजन दोनों को अपने-अपने साथ ले गए।

पैसे खत्म होने पर खाया जहर

युवक ने स्वजन को बताया कि पांच दिन में उनका जेब खर्च खत्म हो गया था। तभी दोनों ने जहर खाकर जान देने का निर्णय लिया। कोई कीटनाशक दवाई लेकर आए। होटल के रूम में दवाइयां खाकर स्वजन को फोन पर जानकारी दी। समय पर उपचार मिलने से दोनों की जान बच गई।

इनका कहना है

बेगमपुल के सिंह होटल में प्रेमी युगल के जहर खाने की सूचना आई थी। पुलिस मौके पर गई थी, लेकिन तब तक स्वजन दोनों को अपने साथ लेकर जा चुके थे। स्वजन ने फोन पर दोनों की हालत खतरे से बाहर बताई है। होटल स्वामी ने दोनों की आइडी लेकर रूम दिया था।

- विनीत भटनागर, एसपी सिटी, मेरठ।

Edited By: Prem Dutt Bhatt