मेरठ,जेएनएन। कोरोना महामारी में व्यवस्था धराशायी होती दिखाई दे रही है। हालत इस कदर भयावह हैं कि आक्सीजन के डर से अस्पताल प्रबंधन मरीजों को भर्ती ही नहीं कर रहे हैं। प्रशासन भी आक्सीजन मुहैया कराने में पूरी तरह कामयाब नहीं हो पा रहा है। इसके चलते निजी अस्पतालों के कर्मचारी आक्सीजन सिलेंडर के लिए खुद ही लाइन में खड़े हैं। सिलेंडर उठाने को लेकर भी मारामारी मची है। मेरठ मिडी आक्सी प्लाट के खराब होने पर अग्रवाल आक्सीजन प्लाट पर भीड़ ज्यादा बढ़ गई थी। हालाकि प्रशासनिक अफसरों ने मेरठ मिडी आक्सी प्लाट को जल्द चलाने के आदेश दिए हैं।

गुरुवार दोपहर एक बजे परतापुर के उद्योगपुरम में अग्रवाल गैस प्लाट पर वाहनों की भीड़ लगी थी। इनमें ज्यादातर निजी अस्पतालों के कर्मचारी वाहन लेकर सिलेंडर भरने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। प्लाट स्वामी विशाल अग्रवाल ने बताया कि गैस की माग अस्पतालों में 50 फीसदी बढ़ गई है। इसलिए कमर्शियल उपयोग में आने वाली आक्सीजन पर फिलहाल रोक लगा रखी है। अब केवल अस्पतालों को पूíत की जा रही है। यही हाल हापुड़ रोड पर मिडी आक्सी प्लाट पर देखने को मिला। गुरुवार को अचानक ही प्लाट खराब होने के बाद भी कुछ वाहन खड़े हुए थे, जबकि प्लाट स्वामी वहा मौजूद नहीं थे। उनसे फोन पर बात की गई तो बताया कि प्लाट को ठीक करने में लगे है ताकि अस्पताल में आक्सीजन की सप्लाई समय से पहुंचाई जा सके । इन्होंने कहा-

सभी अस्पतालों को प्लाट से आक्सीजन मुहैया करना हमारी प्राथमिकता है। अगले दो दिनों में सभी गैस प्लाटों पर पर्याप्त रूप से गैस उपलब्ध हो जाएगी। उसके बाद सभी अस्पतालों को अलग अलग गैस प्लाट पर बाट दिया जाएगा।

सुभाष प्रजापति, एडीएम वित्त

170 के सिलेंडर के 700 में बेचने का आडियो वायरल

आक्सीजन की किल्लत के बीच गुरुवार को सिलेंडर की कालाबाजारी का आडियो वायरल हुआ। पुलिस जाच में आया कि यह आडियो पवित्रा गैस एजेंसी के स्वामी करण का है। इस बाबत करण का कहना है कि पीछे से महंगा मिल रहा हैं, इसलिए बेच रहा हूं। फिलहाल तो मेरे पास गैस नहीं है। बहरहाल, पुलिस का कहना है कि जांच में जो भी दोषी मिलेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कुछ इस तरह का है वायरल आडियो

कालर : भैया यह कह रहा था हमें निजी अस्पताल में दो सौ सिलेंडर रोजाना चाहिए।

गैस डीलर : फिलहाल आक्सीजन की दिक्कत हो रही हैं, जहा से सप्लाई ले रहे हैं, वहा से जारी रखें। बीच में कुछ भी दिक्कत आएगी तो हम पूíत करा देंगे। मिलजुलकर काम होता रहेगा। अगर मैं दे दूंगा तो किसी और को देने लायक नहीं रहूंगा। कालर : भैया सिलेंडर का रेट क्या लगेगा।

गैस डीलर : बिल नहीं दूंगा, गैस महंगी हो रही हैं, बाद में मेरे ऊपर ही आएगा गैस की कालाबाजारी कर दी। आपको 750 रुपये और जीएसटी अलग से मिलेगा। रेट में कुछ नहीं कर सकता पीछे से गैस महंगी आ रही है। कोरोना से पहले हमारा सिलेंडर 250 से 300 रुपये तक में बिक रहा था। इन्होंने कहा-

आक्सीजन की कालाबाजारी करने वालों पर शिकंजा कसा जाएगा। सभी थानों को भी आदेश दिए जा चुके हैं। वायरल आडियो की जाच की जा रही है। आडियो में आक्सीजन की चार गुना रकम मागने वाले गैस डीलर पर कार्रवाई की जाएगी। गैस डीलर के बारे में जानकारी जुटा ली गई है।

अजय साहनी, एसएसपी

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप