मेरठ, जेएनएन। व्यवस्था को पारदर्शी बनाने के लिए मेरठ में आरंभ की गई एम वाहन व्यवस्था में स्लाटों की संख्या घटा दी गई है। अब एक दिन के लिए 30 स्लाट निर्धारित किए गए हैं। पहले इनकी संख्या 100 थी। मेरठ संभागीय परिवहन कार्यालय में जनवरी माह के प्रथम सप्ताह से एम वाहन एप से अब वाहनों की फिटनेस प्रमाण जारी करने का कार्य हो रहा है। खास बात यह है कि कार्यालय से पांच सौ मीटर की परिधि में खड़े होने वाले वाहनों का फिटनेस इससे जारी होगा। एप में फिटनेस के लिए आने वाले वाहनों की पूरी डिटेल अंकित की जाती है। इसके साथ अलग अलग कोण से वाहन के छह फोटो भी अपलोड करने होते हैं। इस प्रक्रिया में अब काफी समय लगता है। सोमवार या छुट्टी के बाद कार्यालय खुलने पर ऐसा देखा जा रहा था कि काफी वाहन फिटनेस जांच के लिए कार्यालय पहुंच रहे थे। ऐसे में पूरे मैदान में वाहन ही वाहन नजर आ रहे थे। एक आरआइ राहुल शर्मा ने बताया कि एम वाहन एप से फिटनेस प्रमाण पत्र तभी जारी होता है जब सभी डाक्युमेंट अपलोड हों। अनावश्यक लोगों को परेशान न होना पड़े इसलिए स्लाटों की संख्या कम कर दी गई है। वहीं जाम की समस्या के निस्तारण के लिए एआरटीओ प्रशासन श्वेता वर्मा ने बताया कि कार्यालय के आसपास अवैध अतिक्रमण हटाने के लिए प्रशासन को पत्र लिखा गया है।

एसपी सिटी से मिले व्यापारी

शास्त्रीनगर और जागृति विहार में बढ़ रही आपराधिक वारदातों को रोकने की मांग को लेकर स्थानीय व्यापार संघ के पदाधिकारी एमपी सिटी से मिले। शास्त्रीनगर जागृति विहार व्यापार संघ के महामंत्री जीतेंद्र अग्रवाल ने क्षेत्र में पुलिस गश्त बढ़ाने की मांग की। मीडिया प्रभारी विजय गांधी ने बताया कि एसपी सिटी ने व्यापारियों को पूर्ण सुरक्षा और घटनाओं ने जल्द खुलासे का आश्वासन दिया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप