मेरठ, [अमित तिवारी]। Young Achievers ऊंची उड़ान या फिर ऊंची छलांग, दोनों ही व्यक्ति के महत्वाकांक्षा को दर्शाते हैं। और बात जब खेल की हो तो हर खिलाड़ी कुछ ऐसी ही महत्वाकांछा रखता या फिर रखती है। मेरठ की उभरती हुई एथलीट मानसी भी कुछ ऐसा ही जज्बा रखती हैं। ऊंची कूद की खिलाड़ी मानसी ने अब तक अपने नाम नेशनल रिकॉर्ड के साथ 8 बार का प्रदेश रिकॉर्ड भी बनाने में सफलता हासिल की है। अब उनको अपने ही रिकॉर्ड को बार-बार पीछे छोड़ना अच्छा लगने लगा है। मानसी ऊंची कूद में रिकॉर्ड बनाने और रिकॉर्ड तोड़ने का भी रिकॉर्ड बनाना चाहती है। तभी तो हर दिन 5 से 6 घंटे की ट्रेनिंग करते हुए मानसी की नजर फरवरी में छह से 10 फरवरी तक होने जा रहे जूनियर नेशनल एथलेटिक्स चैंपियनशिप है पर नजर टिकी है। यह प्रतियोगिता असम के गुवाहाटी में होगी जिसके लिए पिछले दिनों प्रदेश में तीन जगहों पर एथलेटिक चैंपियनशिप का आयोजन किया गया। ऊंची कूद का इवेंट प्रयागराज में हुआ और 2021 का पहला रिकॉर्ड भी मानसी ने अपने नाम कर लिया है।

छलांग लगाते ही बनने लगे रिकॉर्ड

मानसी ने साल 2017 में एथलेटिक कोच गौरव त्यागी के मार्गदर्शन में ऊंची कूद का प्रशिक्षण शुरू किया था। उन्होंने सबसे पहली प्रतियोगिता स्कूल स्टेट खेला जिसमें ऊंची कूद में 1.58 मीटर की छलांग लगाकर अपने नाम पहला रिकॉर्ड बना लिया। इस इवेंट के बाद उनका चयन इंटर डिस्ट्रिक्ट नेशनल एथलेटिक्स चैंपियनशिप में हुआ। बेहद कठिन प्रतिस्पर्धा में पहली बार हिस्सा लेकर ही मानसी ने 1.59 मीटर की छलांग लगाकर रजत पदक जीत लिया। एथलेटिक्स में मानशी के नाम प्रदेश में आठ रिकॉर्ड दर्ज हैं। इसके अलावा उन्होंने नार्थ जोन नेशनल में रिकॉर्ड 1.61 मीटर की छलांग लगाई थी। इससे पहले स्कूल नेशनल में रजत व कांस्य पदक जीता था। वहीं जूनियर नेशनल में ब्रोंज मेडल जीता। परिवार में उनकी बड़ी बहन भी एथलेटिक्स के खेल से जुड़ी हैं और डिस्कस थ्रो करती हैं।

प्रदेश स्तर पर इन आठ प्रतियोगिताओं में मानसी ने बनाए रिकॉर्ड

प्रदेश स्तर पर ऊंची कूद में मानसी ने आठ रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए हैं। 2017 में ऊंची कूद का प्रशिक्षण लेना शुरू ही किया था। उसके बाद उन्होंने गोरखपुर में आयोजित प्रदेश स्तरीय एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 1.54 मीटर की छलांग लगाकर पहला रिकॉर्ड अपने नाम किया था। 2017 में ही गाजियाबाद में हुई स्कूल स्टेट एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 1.59 मीटर की छलांग लगाकर दूसरा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। 2018 में वाराणसी में हुई एथलेटिक चैंपियनशिप में 1.60 मीटर की छलांग लगाई तो 2018 में ही प्रयागराज में हुई एथलेटिक चैंपियनशिप में 1.61 मीटर छलांग लगाकर अपने ही रिकॉर्ड को तोड़कर आगे बढ़ गई। 2019 में स्कूल स्टेट प्रयागराज में हुआ। इसमें मानशी ने 1.64 मीटर की छलांग लगाकर रिकॉर्ड अपने नाम किया। 2019 में ही उत्तर प्रदेश स्टेट एथलेटिक्स चैंपियनशिप प्रयागराज में हुई। इस एथलेटिक चैंपियनशिप प्रतियोगिता में 1.62 मीटर की छलांग लगाकर मानसी ने इस प्रतियोगिता में भी नया रिकॉर्ड अपने नाम किया। 2020 में एक बार फिर स्कूल स्टेट चैंपियनशिप प्रयागराज में आयोजित हुई, इसमें भी अपने पुराने रिकॉर्ड को कायम रखते हुए 1.64 मीटर छलांग लगाई और रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज कराया। 2021 में 17 से 18 जनवरी तक प्रयागराज में हुई एथलेटिक चैंपियनशिप में मानशी ने एक बार फिर ऊंची छलांग में 1.65 मीटर छलांग लगाकर नया रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।

हर दिन 6 घंटे करती हैं अभ्यास

मानसी का प्रदर्शन उनके खेल में जुझारूपने और लगन को दर्शाता है। वह कैलाश प्रकाश स्पोर्ट्स स्टेडियम में हर दिन 3 घंटे सुबह और 3 घंटे शाम को अभ्यास करती हैं। उनके कोच गौरव त्यागी कहीं भी रहे उनका मार्गदर्शन करने के लिए और अभ्यास कराने के लिए जरूर स्टेडियम पहुंचते हैं। प्रदेश में आठ रिकॉर्ड और राष्ट्रीय स्तर पर एक रिकॉर्ड के साथ चार राष्ट्रीय पदक अपने नाम कर चुकी मानशी की नजर अब अगली नेशनल प्रतियोगिता पर टिकी हुई है। इस प्रतियोगिता के बाद उन्हें अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भी प्रतिभाग करने का मौका मिल सकता है। वर्तमान में बीए प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रही मानशी के पिता किसान हैं। खेलकूद को लेकर परिवार का पूरा सहयोग मिलने से दोनों बहने अपने प्रदर्शन को और बेहतर करने की दिशा में हर दिन अभ्यास कर रहे हैं। ऊंची कूद में ऊंची ऊंची छलांग लगाने वाले हर खिलाड़ी उन्हें बेहद पसंद है और उन्हीं से प्रेरणा लेकर वह हर बार अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने में सफल हो पाती हैं। मानसी के कोच गौरव त्यागी का कहना है कि नेशनल प्रतियोगिता में मानसी स्वर्ण पदक की दावेदार हैं। उनका प्रदर्शन अभ्यास के दौरान भी कई रिकॉर्ड से बेहतर होता है। अब वही प्रदर्शन प्रतियोगिता में भी दर्ज कर अपने नाम रिकॉर्ड दर्ज कराने के साथ ही मानसी स्वर्ण पदक भी लेकर लौटेगी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप