मेरठ,जेएनएन। जिले में डेंगू की रफ्तार धीमी पड़ती नहीं दिख रही। प्रतिदिन डेंगू के नए केस सामने आ रहे हैं। बुधवार को जिले में डेंगू के 12 मरीज मिले हैं। अब तक जिले में डेंगू के 134 केस मिल चुके हैं। इनमें 75 सक्रिय मरीज हैं, वहीं 59 ठीक हो चुके हैं। जहां मरीज मिले हैं वहां फागिंग व एंटी लार्वा दवा का छिड़काव किया गया। उधर, जिला मलेरिया विभाग की दस टीमों ने घर-घर जाकर निरीक्षण किया। जिला मलेरिया अधिकारी सत्यप्रकाश ने बताया कि फाजलपुर, न्यू सैनिक विहार, अनूपनगर, कृष्णानगर समेत अन्य इलाकों के 40 घरों में लार्वा मिले हैं। टीमों ने सभी भवन मालिकों को नोटिस जारी किए और लार्वा नष्ट करने के निर्देश। साथ ही लोगों को चेतावनी दी गई कि निरीक्षण के दौरान अगर उनके घरों में दोबारा लार्वा मिलता है तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

: भामौरी गांव में बीते दिनों दो मरीज डेंगू के मिले थे। इस पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दोनों युवकों को मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती करवाया था। बुधवार को एसीएमओ टीम के साथ गांव पहुंचे और निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए।

भामौरी गांव पहुंचे एसीएमओ डा एस के अरोरा ने निरीक्षण के बाद सीएचसी प्रभारी डा. अमित त्यागी को दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि बीते दिनों गांव में दो युवकों को डेंगू हो गया था। इस पर टीम ने उन्हें मेरठ के अस्पताल में भर्ती करवाया था। हालांकि, एक युवक ठीक हो गया है। उन्होंने ग्रामीणों को जागरूक करते हुए बताया कि घर के आसपास गड्ढे में पानी नहीं भरने दें। कूलर का पानी हर दो दिन बाद बदलें। बुखार होने पर तुरंत सीएचसी में पहुंचे। उन्होंने बताया कि सीएचसी में डेंगू के प्राथमिक उपचार की सुविधा है। गांव में हुआ कीटनाशक छिड़काव, चला सफाई अभियान

भामौरी गांव में ग्राम प्रधान दिनेश कुमार सोम ने डेंगू से बचाव को नालियों में एंटी लार्वा, चूना व मेलाथियान का छिड़काव करवाया। साथ ही नाले-नालियों की सफाई करवाई।

Edited By: Jagran