रिश्ता कलंकित..

- मां गई थी शौच को, चारपाई पर अकेली थी बालिका

- डाग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम ने जुटाया साक्ष्य, आरोपित फरार

जागरण संवाददाता, घोसी (मऊ) : कोतवाली अंतर्गत मझवारा क्षेत्र के एक गांव में गुरुवार की अलसुबह 30 वर्षीय चाचा ने ढाई वर्ष की सगी भतीजी संग हैवानियत की। घटना की सूचना मिलते ही ग्रामीणों संग पुलिस भी सकते में आ गई। कोतवाल कुमुद शेखर सिंह ने मासूम को महिला आरक्षी संग तत्काल स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपचार को भेजा। स्थिति गंभीर होने के चलते उसे सदर अस्पताल भेज दिया गया।

महिला के पति बाहर रहते हैं। महिला घर पर अपने तीन छोटे बच्चों संग अकेली रहती है। पड़ोस में उसके सगे देवर एवं जेठ अलग मकान में सपरिवार रहते हैं। सुबह लगभग साढ़े पांच बजे तीनों बच्चों को सोता छोड़ महिला शौच के लिए सिवान में गई थी। कुछ देर बाद लौटी तो सबसे छोटी ढाई वर्ष की बेटी अचेत पड़ी थी। उसे रक्तस्त्राव हो रहा था। यह देख वह सन्न रह गईं। आननफानन में वह पड़ोसियों के सहयोग से बालिका को लेकर कोतवाली पहुंची। प्राथमिक उपचार के बाद बच्ची को सदर अस्पताल ले जाया गया।

उधर, बच्चों से मिली जानकारी के आधार पर उसने अपने शादीशुदा देवर के विरूद्ध दुराचार एवं पाक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। आरोपित घटना के बाद गांव से फरार हो गया। पीड़िता के गांव पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक टीएन त्रिपाठी एवं कोतवाल कुमुदशेखर सिंह ने ग्रामीणों से पूछताछ की। डाग स्क्वायड एवं फोरेंसिक टीम ने भी मौका का निरीक्षण कर साक्ष्य जमा किए।

Edited By: Jagran