मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, मऊ : अपने गंतव्य तक जाने के लिए ट्रेन पकड़ने के लिए बुधवार की सुबह स्थानीय स्टेशन पर पहुंचे लोग प्लेटफार्माें पर कर्मचारियों, अधिकारियों की सक्रियता, बावर्दी टीटीई, साफ-सफाई की चाक-चौबंद व्यवस्था देख हैरत में थे। वहां का माहौल देखते ही आभास हो रहा था कि आज कुछ विशेष है। लेट-लतीफ चल रहीं ट्रेनों के इंतजार में काफी देर तक बुधवार को स्टेशन पर खड़े या बैठे रहे लोगों को सफाईकर्मियों ने कई बार इधर-उधर कर सफाई की। यह देख लोगों में कौतूहल व्याप्त था। बाद में पता चला कि महाप्रबंधक रेलवे का आगमन विशेष सैलून से हो रहा है। इसी के मद्देनजर पूरी व्यवस्था दुरुस्त की गई है और पूरा स्थानीय रेलवे प्रशासन अलर्ट मोड में है।

महाप्रबंधक पूर्वोत्तर रेलवे राजीव अग्रवाल कृषक एक्सप्रेस ट्रेन में लगी विशेष सैलून से आए, यह अलग बात रही कि वे स्थानीय स्टेशन पर नहीं उतरे और उसी ट्रेन से सीधे वाराणसी निकल गए। हालांकि उनके स्वागत के लिए स्थानीय रेलवे के सारे अधिकारी मौजूद थे कितु स्टेशन पर महाप्रबंधक के नहीं उतरने से सबने राहत की सांस ली। उनके आने की सूचना से सुबह से रेलवे स्टेशन पर तैयारी जोरों पर थी। सभी अधिकारी अपनी-अपनी ड्रेस में मौजूद चहलकदमी करते नजर आए। टीटीई की संख्या भी सामान्य दिनों की अपेक्षा अधिक थी। वे भी पूरी मुस्तैदी से प्लेटफार्म पर यात्रियों का टिकट चेक करने में लगे थे। जीएम की ट्रेन आने के बाद कुछ अधिकारी सैलून की तरफ दौड़कर पहुंचे भी, कितु उनके बाहर न निकलने से फिर सभी अपने-अपने काम में मुस्तैदी से लग गए। ट्रेन के स्टेशन छोड़ देने के बाद सबने राहत की सांस ली।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप