जागरण संवाददाता, मऊ : विशेष सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत शहर के सर्वाधिक छात्र संख्या वाले डीएवी इंटर कालेज से गुरुवार को रेलवे फाटक तक सड़क सुरक्षा रैली निकाली गई। इस दौरान हाथों में तख्तियां लिए छात्रों ने रास्ते में मिलने वाले लोगों को सड़क पर सुरक्षित चलने के लिए तय किए गए नियमों के अनुपालन का संदेश दिया। पुलिस अधीक्षक अनुराम आर्य ने छात्रों को यातयात नियमों के पालन का संकल्प दिलाया।

डीएवी इंटर कालेज से रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना करने से पहले जिलाधिकारी ज्ञानप्रकाश त्रिपाठी ने छात्रों से एक शिक्षक की भांति संवाद किया और कहा कि यातयात नियमों के पालन से सड़क पर जीवन की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सकती है। यातायात नियमों का पालन किए बिना दुर्घटनाओं को रोक पाना असंभव है। यातयात के यही नियम वास्तव में सड़क पर वाहन चलाने के संस्कार हैं। उन्होंने सड़क सुरक्षा रैली कार्यक्रम के तहत छात्र-छात्राओं को सुरक्षा के कई उपाय सुझाए। एसपी अनुराग आर्य ने 18 वर्ष से कम उम्र के छात्रों से बाइक या कार न चलाने की सलाह दी। कहा कि 18 वर्ष की उम्र पूरी होने के बाद वाहन चलाने का प्रशिक्षण व लाइसेंस लेने के बाद ही सड़क पर बाइक या कार लेकर उतरें। एआरटीओ अवधेश कुमार ने छात्रों को कई नये नियमों एवं लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया की जानकारी दी। डीएम एवं एसपी ने विशाल रैली के सफल आयोजन के लिए डीएवी के प्रधानाचार्य देवभाष्कर तिवारी को सम्मानित किया। इस अवसर पर जिला विद्यालय निरीक्षक राजेंद्र प्रसाद, चंद्रप्रकाश श्रीवास्तव, संचालक ज्ञानेंद्र मिश्र, ऋषिकेश पांडेय आदि उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप