जासं, मऊ : सड़क किनारे रेहड़ी लगाकर जीवन यापन करने वाले दुकानदारों की समस्याएं काफी बढ़ गई हैं। क्योंकि यातायात के निर्बाध गति से संचालन के लिए पुलिस द्वारा इन रेहड़ी दुकानदारों को सड़क की पटरी से हटा दिया गया है। इसके चलते उनके सामने रोजी-रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है। इसको लेकर उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष उमाशंकर ओमर के नेतृत्व में व्यापारियों का प्रतिनिधिमंडल अपर पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र कुमार श्रीवास्तव से मिला और अपनी व्यथा सुनाई।

दुकानदारों की समस्या को सुनकर अपर पुलिस अधीक्षक ने उसका शीघ्र ही समाधान किए जाने का आश्वासन दिया। कहा कि किसी भी रेहड़ी व्यापारी का उत्पीड़न नहीं होगा। उन्होंने सड़क की पटरी पर एक सीमा रेखा का उल्लेख करते हुए कहा कि वह अपने दायरे में रहे तथा नुक्कड़ पर किसी भी दशा में रेहड़ी न लगाएं। प्रतिनिधिमंडल में केशव सोनकर, प्रमोद सोनकर, रमेश माली, अशोक मद्धेशिया, सामिया देवी, गीता सोनकर, अखिलेश भारती, राकेश मद्धेशिया, राजीव मौर्य आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस