जागरण संवाददाता, मऊ : अपनी 17 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलित राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के तत्वावधान में रोडवेज कार्यालय व अधिशासी अभियंता नलकूप खंड कार्यालय के समक्ष गेट मीटिग हुई। इसमें कर्मचारी नेताओं ने मांगें पूरी होने तक सरकार से लड़ाई जारी रखने की हुंकार भरी तो आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को समायोजित करने की मांग उठाते हुए समान कार्य-समान वेतन की जोरदार पैरोकारी की।

रोडवेज कार्यालय पर अवधेश कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में एनएचएम संघ के अध्यक्ष सतीश सिंह ने प्रदेश में संविदा व आउटसोर्सिंग के कर्मचारियों को समायोजित करने का मुद्दा उठाया। हरीराम यादव, सर्वजीत यादव, रमाकांत शर्मा, विनोद कुमार, विष्णुदेव, गुलाब गुप्ता, जितेंद्र पांडेय, संतोष कुमार, शिवप्रसाद यादव, अवधेश पाठक आदि उपस्थित थे। अधिशाषी अभियंता नलकूप खंड कार्यालय पर सिचाई संघ जनपदीय शाखा के अध्यक्ष सुरेश यादव की अध्यक्षता में हुई गेट मीटिग में कर्मचारी हितों से जुड़े अनेक मुद्दे उठाए गए। इस बैठक में कैलाशनाथ, रामधीरज चौहान, रामदरश, कैलाशनाथ यादव, भीम सिंह, लक्ष्मण प्रसाद, बालकिशुन सिंह, रणविजय कुमार, सुजीत कुमार, राजनाथ, अरुण राय, राजनरायन, श्रीकृष्ण राय, सुग्रीव राम आदि थे। मशाल जुलूस कल

दोनों स्थानों पर हुई गेट मीटिग में कर्मचारी नेताओं ने निर्णय लिया कि आगामी 21 नवंबर को परिषद की जनपदीय शाखा के नेतृत्व में जिले के सभी कर्मचारी मशाल जुलूश निकाल कर प्रदर्शन करेंगे। जिलाधिकारी के माध्यम से ज्ञापन प्रेषित किया जाएगा। इस मौके पर मुख्य रूप से दुर्गा प्रताप सिंह, अशोक यादव, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के वरिष्ठ उपाध्यक्ष शिवकुमार सिंह, संतोष कुमार गुप्ता आदि थे। संचालन संयुक्त मंत्री पीएन सिंह ने किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप