जागरण संवाददाता, मऊ : जनपद के लेखपाल अब बुधवार से मोटरसाइकिल से घर से नहीं आएंगे। उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ की प्रदेश कार्यकारिणी समिति के निर्देशानुसार मंगलवार को जनपद के सभी तहसीलों में आंदोलित लेखपालों ने महज 3.33 रुपये दैनिक परिवहन भत्ता के विरोध में मोटरसाइकिल जुलूस निकाला और अपनी आठ सूत्रीय मांगों के विरोध में अपनी आवाज बुलंद की। दरअसल वेतन विसंगति समेत आठ सूत्रीय मांगों को लेकर चल रहे आंदोलन को लेखपालों ने अब धार देनी शुरू कर दी है। अब तक खामोशी से धरना देने वाले लेखपाल मंगलवार को सड़क पर उतर आए।

सदर तहसील के लेखपालों ने नगर में तहसील मुख्यालय से गाजीपुर तिराहा, भीटी चौक, बाल निकेतन से बंधा रोड होते हुए टीसीआइ चौक, मिर्जाहादीपुरा चौक, आजमगढ़ मोड़ होते हुए तहसील तक बाइक जुलूस निकाला। इसमें जिलाध्यक्ष पारसनाथ, मंत्री उदयभान यादव, तहसील अध्यक्ष स्वामीनाथ, पेशकार कुमार, जयचंद चौहान, जयानंद, अरविद सिंह आदि थे।

घोसी प्रतिनिधि के अनुसार तहसील अध्यक्ष राजेश कुमार सिंह के नेतृत्व में तहसील परिसर से मझवारा मोड़ के गांधी तिराहा से मधुबन मोड़ तक मोटरसाइकिल जुलूस निकाला। यह जुलूस शासन द्वारा मात्र एक सौ रुपये मासिक या 3.33 रुपये दैनिक परिवहन भत्ता दिए जाने के विरोध में रहा। तहसील अध्यक्ष श्री सिंह ने 26 नवंबर को तहसील मुख्यालय पर मोमबत्ती जुलूस निकाले जाने और 5 दिसंबर को मांगों को लेकर लखनऊ में विधानसभा का घेराव करने की जानकारी दी है। इस विरोध जुलूस में मंत्री बलवंत पांडेय, कतवारू यादव, अजय चौहान, रीतेश सिंह एवं सर्वेश सिंह, राजेश भारती, दिनेश राजभर, दिनेश शाह, मुन्ना लाल, अक्षय गिरी एवं योगेंद्र यादव सहित समस्त लेखपाल शामिल थे।

मधुबन प्रतिनिधि के अनुसार प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए तहसील क्षेत्र के लेखपालों ने स्थानीय बाजार में बाइक जुलूस निकाला। चेतावनी दी कि उनकी जायज मांगों को नहीं पूरा किया तो परिणाम अच्छे नहीं होंगे। उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ के बैनर तले स्थानीय तहसील के लेखपालों ने मंगलवार को संपूर्ण समाधान दिवस का बहिष्कार किया। तहसील मुख्यालय से बाइक जुलूस के साथ आंबेडकर तिराहा, कटघरा शंकर तिराहा का भ्रमण करते हुए तहसील मुख्यालय पहुंचे। सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की और एकजुटता के लिए नारे लगाए। कहा कि एकता में बेहद शक्ति है। लेखपाल एकजुट हैं। यह लड़ाई हमारे स्वाभिमान की है, जिसे प्रदेश सरकार अनदेखा कर रही है। इस बार लड़ाई आरपार की है। अब नतीजा कोई भी हो, भुगतने के लिए तैयार हैं। ओमप्रकाश, जयप्रकाश यादव, विवेक राय, अविनाश कुमार दर्जनों लेखपाल जुलूस में शामिल थे।

वलीदपुर प्रतिनिधि के अनुसार उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ उपशाखा मुहम्मदाबाद गोहना बैनर के तले तहसील के दर्जनों लेखपालों ने मंगलवार को विभिन्न मांगो को लेकर रैली निकाली। इसके पूर्व उपजिलाधिकारी को एक पत्र सौंपकर प्रस्तावित कार्यक्रम की जानकारी भी दिया। रैली के उपरांत लेखपालों ने कहा कि अब वे अपने निजी वाहन मोटरसाइकिल, स्कूटर आदि का प्रयोग शासकीय कार्य के संपादन में नहीं करेंगे। अपितु सार्वजनिक परिवहन से चलेंगे। कार्य संपादन में विलंब के लिए उत्तरदायी नहीं होंगे। लेखपाल तहसील में केवल प्रथम व तृतीय मंगलवार को ही उपस्थित होंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस