जागरण संवाददाता, मऊ : माता ही सृष्टि की निर्माण कर्ता होती है। माता जैसा व्यवहार, संस्कार और विचार बच्चों में पिरोएगी, वैसी ही बच्चे की जीवनरूपी माला बनती चली जाएगी। यह कहना है महिला आइएएस अधिकारी डा.अंकुर लाठर का। वह सोमवार को आर्य समाज के वार्षिकोत्सव में आयोजित मातृ सम्मेलन में बोल रही थीं। आयोजन में एसपी अनुराग आर्य ने बच्चों का आह्वान किया कि वे अपनी आंतरिक शक्ति को पहचाने और उसके अनुसार लक्ष्य का निर्धारण करें। फिर निष्ठा व ईमानदारीपूर्वक अपने कर्म करें, सफलता निश्चित रूप से मिलेगी। कार्यक्रम में आर्यसमाज द्वारा संचालित शिक्षण संस्थानों डीएवी इंटर कालेज, डीएवी बालिका इंटर कालेज, दयानंद बाल विद्या मंदिर, डीएवी बाल विद्या मंदिर में अध्ययनरत तथा अपनी कक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को पुरस्कृत करने के साथ ही उनकी माताओं को भी सम्मानित किया गया।

इन्हें मिला सम्मान

आर्य समाज द्वारा संचालित शिक्षण संस्थानों में हाईस्कूल 2019 की परीक्षा में अर्चिता गुप्ता ने जनपद के टॉप 10 में अपना स्थान बनाया था। उन्हें 3500 रुपए, शील्ड एवं अन्य पठन सामग्री प्रदान किया गया। दूसरा पुरस्कार बुशरा इकराम को मिला। उन्हें 2500 रुपये की सहयोग राशि एवं पठन सामग्री दी गई। तीसरे पुरस्कार विजेता उत्कर्ष पांडेय रहे। उन्हें 2000 रुपए प्रदान किए गए। कार्यक्रम संयोजक अजय आर्य ने बताया कि विद्यालयों के एलकेजी से कक्षा नौ तक के बच्चों को भी प्रथम स्थान प्राप्त करने हेतु पुरस्कृत किया गया है। कार्यक्रम में डा.एससी तिवारी, इनरव्हील क्लब के पदाधिकारीगण, पंडित हरिशंकर, सत्यप्रकाश आर्य, बृजेश सिंह, राजेंद्र प्रताप, सुमित राय, प्रशांत रत्नम सिंह, सर्वेश राय, अशोक कुमार आर्य, प्रहलाद वर्मा, गणेश बरनवाल, बब्बन प्रसाद वर्मा आदि के साथ विद्यालयों के बच्चे व अभिभावक, माताएं उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस