जेएनएन, मथुरा: आतंकियों के हमले में शहीद जवानों के परिवारों के दर्द से धर्म भी अछूता नहीं रहा। वृंदावन में सेवायतों ने घटना के विरोध में मंदिरों के पट बंद रखे। इधर, मुस्लिम समाज ने भी पाकिस्तान का पुतला फूंक आक्रोश जाहिर किया।

तीर्थनगरी वृंदावन में सेवायतों ने पुलवामा की घटना के विरोध में एक घंटे मंदिर के पट बंद रखे। ठा. राधासनेहबिहारी में शाम एक घंटे मंदिर के पट बंद रखे गए। सेवायत संग अभा ¨हदू महासभा ने मोमबत्ती जलाकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। अतुल कृष्ण गोस्वामी, बिहारीलाल वशिष्ठ, पूर्व चेयरमैन मुकेश गौतम, महंत हरिबोल बाबा, महंत सच्चिदानंद, मदन बिहारी दास, प्रदीप गोस्वामी, कृष्णमुरारी शर्मा समेत अनेक लोग मौजूद रहे। ब्राह्माण महासभा ने दाऊजी बगीची में श्रद्धांजलि अर्पित की। जगदीश नीलम, सुरेशचंद्र शर्मा, पार्षद राधाकृष्ण पाठक, महेश भारद्वाज, दयाशंकर शर्मा, रामनारायण ब्रजवासी, योगेश द्विवेदी, डॉ. विनोद बनर्जी मौजूद रहे। ब्राह्माण सेवा संघ ने सीएल शिशु निकेतन में श्रद्धांजलि दी। चंद्रलाल शर्मा, सत्यभान शर्मा, जेपी सारस्वत, राजेंद्र द्विवेदी, नरेंद्र शर्मा मौजूद रहे। शिवसेना ने केशीघाट पर सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। चंद्रहास भारद्वाज, विश्वविजय महाराज, हरीमोहन सैनी, मनोज ¨सह, सुरेश शर्मा, राजेश शर्मा, शिवकिशोर, सुनील शर्मा मौजूद रहे। संतों ने हनुमान चालीसा पाठ और पुतला दहन किया। आत्मशांति को हवन-यज्ञ का सिलसिला चलता रहा।

भूतेश्वर पर अमरनाथ रोड स्थित भोला शाह मस्जिद पर मुस्लिम समाज के लोगों के साथ रालोद ने देश की सलामती की दुआ मांगी और पाकिस्तान मुर्दाबाद, पाकिस्तान का नाश हो के नारे लगाने के साथ पुतला फूंका। पवन चतुर्वेदी और आबिद कुरैशी ने कहा की पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुआ हमला विचलित करने वाला है। बबलू चौघरी, जुल्फिकार कुरैशी, चिरागऊदीन कुरैशी, मुजाहिद कुरैशी, तनबीर कुरैशी, डॉ. नकीम कुरैशी, सैफ कुरैशी आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप