संवाद सहयोगी, मथुरा : बंगलुरू से नई दिल्ली जा रही कनार्टक एक्सप्रेस के दिव्यांग कोच में जीआरपी और आरपीएफ ने नौ जुआरी पकड़ लिए। जुआरियों से 74690 और नौ मोबाइल बरामद हुए।

सुरक्षा के मद्देनजर जीआरपी और आरपीएफ द्वारा चेकिग अभियान चलाया जा रहा है। कर्नाटक एक्सप्रेस के दिव्यांग कोच में चेकिग के दौरान जुआ खेलते हुए नौ जुआरी पकड़ लिए। आरोपितों ने अपने नाम तारिक उर्फ शामू निवासी तेलीपाड़ा, आगरा, योगेश सिधी निवासी श्याम नगर, शाहगंज, आगरा, बदन सिंह निवासी सेमरी ताल, आगरा, विनोद कुमार निवासी सदर, आगरा, मनोज शर्मा निवासी सदर, आगरा, शमशेर उर्फ गुड्डा निवासी मथुरा, जल्लो उर्फ जल सिंह निवासी ताजगंज, आगरा, बंटी खटीक उर्फ कमल किशोर निवासी हरीपर्वत, आगरा, राकेश शर्मा निवासी लोहामंडी बताया। आरोपितों से 74690 रुपये और नौ मोबाइल बरामद हुए। आरोपितों ने बताया कि यात्रा के दौरान दिव्यांग कोच में कब्जा कर आर्थिक लाभ के लिए जुआ खुलते हैं। डर के कारण यात्री कोच में नहीं आते हैं। थाना जीआरपी प्रभारी सुबोध कुमार और आरपीएफ प्रभारी सीबी प्रसाद ने बताया कि संयुक्त चेकिग के दौरान नौ जुआरी पकड़े गए हैं। आरोपितों को जीआरपी के एसएसआइ नरेंद्र सिंह, एचसी अनिल कुमार, रामरज पाल, आरपीएफ एसआइ उदय शंकर तिवारी, कांस्टेबल सुभाष सिंह, जितेंद्र सिंह शामिल थे। फर्जी पहचान पत्र से सिम बेचने वाले दो दबोचे: छाता थाना छाता पुलिस ने शनिवार को पैगांव मार्ग स्थित बंबा से दो शातिर गिरफ्तार किए हैं। दोनों आरोपित फर्जी आइडी से सिम खरीदने और बेचने का धंधा करते थे। आरोपितों से 99 सिम बरामद की गई है। इनकी साइबर सेल जांच कर रहा है।

इंस्पेक्टर छाता प्रदीप कुमार ने बताया, फर्जी पहचान पत्र बनाकर सिम खरीद कर बेचने का काम करने वाले लोगों की छाता क्षेत्र में सक्रिय होने की कई दिनों से लगातार सूचनाएं मिल रही थी। पुलिस को दो संदिग्ध युवकों की मौजूद होने की जानकारी पर घेराबंदी कराई गई। मंतियाज निवासी बगौला थाना फिरोजपुर झिरका जिला नूंह मेवात और पैगांव के चतुर्भुजी मुहल्ला निवासी सलाऊद्दीन को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों से 99 सिम भी एक कंपनी की बरामद हुई हैं। सिम की जांच साइबर सेल कर रहा है। एसएसआइ सुरेंद्र कुमार, एसआइ अश्वनि कुमार, कांस्टेबल सुरेश कुमार, राहुल बालियान और रिकू चौधरी पुलिस टीम में शामिल रहे।

Edited By: Jagran