मथुरा, जासं। रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को नसीहत देते हुए कहा कि वह देखें कि उनका मुकाबला किसके साथ है। उसी के मद्देनजर 31 अगस्त को लखनऊ में होने वाली रालोद की बैठक में कोर कमेटी में परिवर्तन किया जाएगा। कार्यकर्ताओं को विश्वास दिलाया कि पार्टी मजबूत होगी।

पार्टी जिलाध्यक्ष रामरस पाल पौनिया के कैंप कार्यालय पर कार्यकर्ता संवाद कार्यक्रम में रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि इस परिवर्तन के पीछे का मकसद यह है कि किस तरह से पार्टी की गतिविधियां जमीन पर बढ़ें। पार्टी का कार्यक्रम और प्रचार प्रसार गांव-गांव हो। इसके लिए चलो गांव की ओर, स्वराज यात्रा जैसे कार्यक्रम किए जाते थे, लेकिन अब यह नहीं किए जा रहे हैं। इसलिए पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के बीच की दूरी को न बढ़ा कर उसे कम किया जाए। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को दूसरे से भी सीखने की जरूरत है। वह देखे की जिनके साथ उनका मुकाबला है, उनकी भाषा शैली क्या, उनके संगठन में कैसे विस्तार आ रहा है।

उन्होंने सरकार के कामकाज पर भी प्रहार किया। कहा कि कोई परिवर्तन नहीं हुआ है। जमीन पर कोई अच्छा काम नहीं हो रही है। पहले पार्टी के अंदर का विरोध सड़क पर आ जाता था, लेकिन अब भाजपा के नेता सभी एक सुर में ही बोल रहे हैं। जयंत ने कार्यकर्ताओं से पूछा कि क्या हम एक परिवार की तरह से नहीं है। क्या हमारे अंदर एक दूसरे के प्रति लगाव नहीं रहा। उन्होंने सदस्यता अभियान पर बल दिया और कहा कि एक-एक कार्यकर्ता कम से कम 20 सदस्य बनाए। इससे पहले उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों को सुना। संचालन जिलाध्यक्ष रामरस पाल पौनिया ने किया। पूर्व विधायक ठाकुर तेजपाल सिंह, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चेतन मलिक, मीडिया प्रभारी उमेश चौधरी, युवा जिलाध्यक्ष ठाकुर जितेंद्र सिंह, तौफीक आढ़ती आदि पदाधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस