संवाद सहयोगी, मथुरा : गुरुवार को नवरात्र पर्व की महानवमी पर घर-घर कन्या-लांगुरा का पूजन किया गया। उन्हें भोजन कराकर दक्षिणा भेंट की गई। शाम का मंदिरों में भजन संध्या व जगराते का आयोजन किया गया। देर रात तक प्रमुख देवी मंदिरों में दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ती रही। इस दौरान मंदिर परिसर माता रानी के जयकारों से गुंजायमान रहे।

नवरात्र पर्व का समापन गुरुवार को हो गया। सर्वप्रथम भोर में उठकर भक्तों ने दैनिक क्रिया से निवृत्त होकर घर व मंदिरों में मातारानी का पूजन कर ज्योति जलाई। हवन यज्ञ व पूर्णाहुति का आयोजन किया गया। आरती के बाद घर-घर कन्या-लांगुराओं को हलवा-पूरी, चने आदि का भोज कराया गया। उन्हें उपहार व दक्षिणा देकर विदा किया गया। इस दौरान बच्चों के समूह गलियों में भ्रमण करते दिखाई दिए। शाम को शहर के प्रमुख कैंट काली, रंगेश्वर काली, चामुंडा, पथवारी, जूरी वाली देवी, महाविद्या, चर्चिका, कंकाली, पाताल देवी समेत अन्य देवी मंदिरों पर विशेष रंग-बिरंगी रोशनियों व फूलों से आकर्षक सजावट की गई। अधिकांश मंदिरों में भजन संध्या-जागरण व महा आरती का आयोजन किया गया। देर रात तक दर्शन के लिए भक्तों की भारी भीड़ उमड़ती रही। फूल बंगला सजाकर किया कन्या-लांगुरा पूजन

मथुरा : श्रीजी महाराज ट्रस्ट कमेटी के तत्वावधान में श्रीजी मंदिर श्रीविद्या पीठ प्रांगण में भव्य फूल बंगला सजाकर कन्या-लांगुराओं का पूजन किया गया। श्रीजी गद्दी श्रीजी पीठाधीश्वर भोला बाबा महाराज श्रीजी गादिपति के सान्निध्य में हुए कार्यक्रम में दीपू बाबा, दीपक शास्त्री, जगदीश, राहुल चतुर्वेदी, महेश रावत, भोले सरदार पप्पू, वेदांत बाबा, सिद्धार्थ बाबा, आदि ने सेवा की। श्रीदेवी असहाय सेवा संस्थान के तत्वावधान में सरस्वती कुंड के निकट मां दुर्गा मंदिर में 150 से अधिक कन्या लांगुराओं का पूजन सचिव सुरेश कुशवाहा व अध्यक्ष ऊषा देवी ने किया। इसके बाद प्रसाद ग्रहण कराकर उन्हें उपहार भेंट किए गए। नवरात्र की नवमी पर घर-घर हुआ कन्या पूजन

संवाद सहयोगी, वृंदावन: नवरात्र की नवमी पर मंदिर, मठ और घरों में कन्या पूजन का सिलसिला सुबह से शुरू हुआ, तो दोपहर तक चलता रहा। श्रद्धालुओं ने कन्याओं को भोजन करवाकर उन्हें उपहार दिए और पूजन कर मां की आराधना की।

शारदीय नवरात्र की नवमी पर गुरुवार को सुबह से ही मंदिरों के साथ घरों में कन्या पूजन का आयोजन श्रद्धालुओं ने किया। राधानिवास स्थित गंगाजी मंदिर में संत आनंदस्वरूप गंगाजीवाले बाबा के सान्निध्य में 108 कन्याओं को भोजन करवाकर उन्हें उपहार दिए और चौकी पर बिठाकर कन्याओं का पूजन गंगाजीवाले बाबा ने किया। इसी के साथ मंदिरों और घरों में भी नौ दिन तक व्रत रखने वाले श्रद्धालुओं ने कन्याओं का पूजन कर उपहार बांटे। शहर में करीब दर्जन भर पंडालों में आयोजित दुर्गा पूजा महोत्सव में भी कन्याओं को भोजन करवाकर भक्तों ने उनका पूजन किया। मदनमोहन मंदिर, गोपीनाथ बाजार, बसंती चबूतरा, पत्थरपुरा, गौरानगर कालोनी, परिक्रमा मार्ग, पानीघाट, बाराहघाट, दुसायत में सजाए गए मां दुर्गा के पंडालों में सुबह से धार्मिक आयोजन हुए तो दोपहर को कन्याओं को भोजन करवाकर उन्हें उपहार बांटे।

Edited By: Jagran