जेएनएन, मथुरा: कान्हा की नगरी में शनिवार को हिदी दिवस पर हिदी की महत्ता बताई गई। संगोष्ठी, निबंध, सुलेख प्रतियोगिताओं में बच्चों ने हिदी पर अपनी बात कही। वक्ताओं ने कहा कि हिदी दुनिया की सबसे वैज्ञानिक भाषा है। इस दौरान हिदी के साधक साहित्यकार और कवि याद किए गए।

जीएलए विश्वविद्यालय में शिक्षा संकाय में छात्र-छात्राओं में हिदी भाषा के प्रति प्रेम जागृत करने के लिए प्रतियोगिता हुई। शिक्षा संकाय की प्राचार्य प्रो. कविता वर्मा ने प्रतियोगिता का शुभारंभ किया और राष्ट्र निर्माण में हिदी का महत्व बताया। निर्णायक मंडल में बृजभूमि महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. धर्मराज ने मूल्यांकन किया। प्रतियोगिता में अंतिमा सिंह ने पहला, गीता रानी ने दूसरा और शानू अग्रवाल ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। ज्योति शर्मा, प्रीती वर्मा, डॉ. दयाल संधु, संगीता गुप्ता एवं राजेश कुमार सिंह ने आयोजन किया। ज्ञानदीप शिक्षा भारती में हिदी सप्ताह का समापन हुआ। सुलेख, कविता लेखन, लघु कथा लेखन, चित्रकला आदि प्रतियोगिताओं के माध्यम से छात्र-छात्राओं ने हिदी का महत्व बताया। विजेता छात्रों को प्रधानाचार्य रजनी नौटियाल ने पुरस्कृत किया। समापन पर शैक्षिक निदेशक प्रीति भाटिया, हिदी विभागाध्यक्ष धीरेंद्र सिंह, सुषमा सक्सेना, संदीप कुलश्रेष्ठ और प्रशासनिक अधिकारी आशीष भाटिया ने पारस्परिक वार्ता, पत्र लेखन व सार्वजनिक संबोधनों में हिदी के प्रयोग का आह्वान किया। ज्ञानदीप के संस्थापक सचिव पद्मश्री मोहन स्वरूप भाटिया ने कहा कि संसार के 195 देशों के विश्वविद्यालयों में हिदी पढ़ाई जा रही है। अफसोस इस बात का है कि संवैधानिक रूप से हिदी राष्ट्रभाषा घोषित नहीं हुई है।

कस्बा चौमुहां में सर्वोदय इंटर कॉलेज में हिदी दिवस मनाया गया। प्रधानाचार्य रूमा देवी व सुभाष चंद्र मौर्य द्वारा राजभाषा हिदी के बारे में प्रकाश डाला गया। पत्र लेखन प्रतियोगिता कराई गई। हिदी विषय में श्रेष्ठ अंक लाने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत भी किया गया। संजय पब्लिक स्कूल में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। शुभारंभ प्रधानाचार्य एसके वैष्णव ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। छात्र-छात्राओं ने प्रमुख कवियों की वेशभूषा में उनकी काव्य रचनाओं का सस्वर वाचन किया। छात्रा गरिमा कुशवाहा और राधिका ने कवयित्री महादेवी वर्मा, लक्ष्मीनारायण ने कवि कुमार विश्वास, सूर्य प्रताप ने कृष्णदास, मनु पटेल ने सुभद्रा कुमारी चौहान, साहिल सुमित्रानंदन पंत, सोनी वैष्णव एवं स्वाती पांडेय ने मीराबाई की भूमिका अदा की।

श्री गिर्राज महाराज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट मुड़ेसी में बीएड एवं डीएलएड के प्रशिक्षणार्थियों ने अपने विचारों के साथ. सांस्कृतिक कार्यक्रम क प्रस्तुति दी। मुख्य अतिथि आकाशवाणी के कार्यक्रम संयोजक सत्यवृत्त सिंह हिदी साहित्य के इतिहास पर प्रकाश डाला और वर्तमान परि²श्य में हिदी की प्रासंगिकता के महत्व को उजागर किया। संस्थान के वाइस चेयरमैन आदित्य शुक्ला ने कहा कि हिदी देश का गौरव है इसलिए विश्व में हमारी संस्कृति की अलग पहचान है। प्राचार्य डॉ. बृजेश शर्मा, अंकिता श्रीवास्तव,पार्वती शर्मा, रनवीर, विनोद गोस्वामी, बृजेश कुमार, देवेंद्र सारस्वत, प्रो. राजेश सिंह मौजूद रहे।

नौहझील में एसआरबीएस इंटरनेशनल स्कूल में भाषण, कविता प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ विद्यालय के संस्थापक रामवीर फौजदार ने की। प्रधानाचार्य डॉ. अनुभव लोधी ने हिदी को सशक्त बनाने की बात कही। सपना व नारायन शर्मा ने भी विचार व्यक्त किए। इस मौके पर प्रबंधक प्रताप सिंह, जेपी शर्मा, गुंजन सिंह लोधी, सागर सक्सेना, नवदीप, जितेंद्र कौशिक, हरवंश, गौरव शर्मा, धीरज सिंह, श्रुति, राहुल आदि उपस्थित रहे। संचालन नारायन शर्मा ने किया।

मदन मोहन कलावती सर्राफ सरस्वती विद्या मंदिर सीनियर सेकेंडरी स्कूल में सुलेख एवं निबंध प्रतियोगिता हुई। इसमें छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। वक्ताओं में राजकुमार सारस्वत, देवेंद्र शर्मा, यतेंद्र शर्मा ने विचार व्यक्त किए। छात्रों में विवेक शर्मा, गोपाल शर्मा, लवकुश यादव ने विचार रखे। संचालन आचार्य अनुराग मिश्रा ने किया।

सौंख: बाबा कढेरा सिंह विद्या मंदिर नगला अक्खा में आयोजित कार्यक्रम में चेयरमैन सुरेश सिंह ने कहा कि हिदी की दुर्दशा के लिए हिदी भाषी ही जिम्मेदार हैं। हिदी विभागाध्यक्ष रामबाबू सिंह, प्रबंधक हरी चंद, प्रशासन सगुन सिंह, प्रह्लाद सिंह, सुरेंद्र सिंह, सुग्रीव सिंह, विपिन कुमार, पवन राघव मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस