वृंदावन: खुद को डीएसपी बताकर नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले को गेस्ट हाउस संचालक ने पुलिस के सुपुर्द कर दिया। पूर्व में भी वह यहां ठगी कर चुका था। पुलिस ने आरोपित से पूछताछ कर रही है।

कोतवाली क्षेत्र के अटल्ला चुंगी स्थित कालिया गेस्ट हाउस के संचालक उमेश दुबे ने कोतवाली में तहरीर दी है। उनका कहना है कि चंडीगढ़ निवासी राकेश सेठी उनके गेस्टहाउस में दो साल पहले ठहरने को आया था। ठहरने का किराया दस हजार रुपये हुए थे। उसने चेक दिया और चला गया। जब चेक बैंक में डाला तो बाउंस हो गया। जो मोबाइल नंबर राकेश ने गेस्टहाउस रजिस्टर में दर्ज करवाया, वह भी गलत था। राकेश की फेसबुक आइडी देखी तो उसमें खुद को डीएसपी के तौर पर पेश करते हुए फोटो अपलोड कर रखे थे। इसलिए गेस्टहाउस संचालक ने कोई कार्रवाई नहीं की।

दो दिन पहले जन्माष्टमी पर एकबार फिर सेठी गेस्टहाउस में आकर ठहरा। पहचाने के बाद जब उमेश दुबे ने पिछले रुपयों की चर्चा की तो अपने पद का रौब दिखाते हुए कहा कि इस बार पूरा भुगतान कर दूंगा। गेस्ट हाउस से जाते समय भुगतान करने से आनाकानी करने लगा। संचालक को कुछ संदेह हुआ तो आरोपित की फेसबुक आईडी से कुछ नंबर लेकर सेठी के बारे में जानकारी करने की कोशिश की। उमेश ने बताया कि उसने आरोपित के मोबाइल से किसी परिचित का नंबर लेकर मिलाया तो उसने बताया कि ये नौकरी के नाम पर उसके साथ भी ठगी कर चुका है। उमेश दुबे ने आरोपित राकेश सेठी को पुलिस के हवाले कर दिया। कोतवाली प्रभारी संजीव कुमार दुबे ने बताया कि आरोपित से पूछताछ की जा रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप