मथुरा, जासं। मथुरा लोकसभा सीट के चुनाव में गुरुवार को तीन प्रत्याशियों की किस्मत दांव पर रहेगी। भाजपा की हेमा मालिनी अपने विकास कार्यों के साथ राष्ट्रवाद और नरेंद्र मोदी के नाम के भरोसे हैं तो महागठबंधन के रालोद प्रत्याशी कुंवर नरेंद्र सिंह ने स्थानीयता दांव चला है। कांग्रेस प्रत्याशी महेश पाठक ने कांग्रेस के घोषणा पत्र के अलावा भाजपा के कथित राष्ट्रवाद को मुद्दा बनाया है। जिले के 17.86 लाख से ज्यादा मतदाता कुल 13 प्रत्याशियों में से किसी एक को अपना अगला सांसद बनाने के लिए आज ईवीएम में अपनी पसंद का बटन दबाएंगे।

अठारह दिन के धुआंधार प्रचार के बाद प्रत्याशी अब खामोश हैं तो आज मतदाता की बारी है। शहर से लेकर गांव-देहात के दूरदराज के मतदेय स्थलों पर मतदाता आज सुबह से कतार लगाएंगे और सुबह सात बजे से लेकर सायं 6 बजे तक अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। निर्वाचन आयोग ने मतदान के लिए कुल 11 परिचय पत्र मान्य किए हैं। यदि वोटर कार्ड नहीं है और मतदाता सूची में नाम है तो इनमें से किसी एक विकल्प का सहारा ले सकेंगे। मतदान के लिए पुलिस और प्रशासन ने अपनी तैयारियां कर ली हैं तो राजनैतिक दलों ने भी चुनावी रण जीतने के लिए बूथ एजेंटों की टीम मैदान में उतार दी है। मतदाताओं को बूथों तक पहुंचाने के लिए भी कार्यकर्ता लगाए गए हैं। हर दो किमी में एक मतदान केंद्र-

जिले में मतदान के लिए हर दो किमी के दायरे में मतदेय स्थल बनाए गए हैं। अति संवेदनशील और क्रिटिकल मतदेय केंद्र भी चिह्नित किए गए हैं और इन पर इसी आधार पर पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। -हर केंद्र पर तीन-एक का फार्मूला-

हर मतदान केंद्र पर तीन कर्मचारी और एक अधिकारी की तैनाती की गई है। इस हिसाब से 2014 मतदान केंद्रों पर 1104 पोलिग पार्टियां लगाई गई हैं। दस फीसद पोलिग पार्टियां रिजर्व में रखी गई हैं। निर्वाचन कार्यालय ने वेबकास्टिग की व्यवस्था भी की है। वेबकास्टिग 281 बूथों पर होगी। मतदान की व्यवस्था के लिए फील्ड में 35 जोनल मजिस्ट्रेट और 218 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात रहेंगे। जिले में मतदान की व्यवस्था 88 सौ से ज्यादा कर्मचारी संभालेंगे। -सभी बूथ नो-स्मोकिग-

सभी बूथों को नो स्मोकिग एरिया घोषित किया गया है। मतदाता अपने वाहनों को केंद्र के 200 मीटर तक ले जा सकेंगे। जिले में छाता में चार, मांट में पांच, गोवर्धन में तीन, मथुरा में पांच और बलदेव में पांच आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए हैं। पिक बूथ हरेक विस क्षेत्र में एक-एक दिया गया है।

Posted By: Jagran