जागरण संवाददाता, मथुरा: टोंटी उद्योग की किस्मत जल्द ही चमकेगी। सरकार औद्योगिक क्षेत्र मे ऐसा क्लस्टर बनाने जा रही है, जिसके तहत रॉ मैटेरियल बैंक, डिजाइ¨नग, रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर जैसी सुविधाएं एक ही स्थान पर मिल सकेंगी।

शहर में टोंटी उद्योग सबसे बड़ा व पुराना है। यहां तैयार उत्पाद देश-विदेश में विख्यात हैं। घरेलू बिक्री के अलावा निर्यात भी होता है। इसे वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट में भी शामिल किया गया है। अब उद्योग को और विकसित करने की तैयारी है।

जिले के औद्योगिक क्षेत्र में जल्द ऐसा क्लस्टर बनाया जाएगा, जहां उद्यमियों को उत्पाद को बेहतर बनाने के लिए एक ही जगह सुविधाएं मिल सकें। उन्हें अन्य जिलों व प्रदेशों मे न जाना पड़े। मसलन, कुछ उद्यमी ऐसे हैं, जो अपने उत्पादों की फिनि¨शग राजकोट में कराते हैं। कारण, जिले में वहां जितनी उन्नत मशीन उपलब्ध नहीं हैं। इनकी कीमत करोड़ों में होती है। योजना का मकसद यही है कि उद्यमियों को महंगी मशीन यहीं मुहैया कराई जाएं। इनका अधिकांश खर्चा भी सरकार वहन करेगी। इसलिए उन पर दबाव नहीं पड़ेगा। इसके अलावा डिजाइ¨नग सेंटर, कच्ची सामग्री भी यहीं उपलब्ध कराई जाएगी। औद्योगिक क्षेत्र में अगले वर्ष की पहली तिमाही तक कार्य शुरू हो जाएगा। इसमें उद्यमियों को सुविधाएं स्थानीय स्तर पर उपलब्ध कराने की कोशिश की जाएगी।

वीरेंद्र कुमार, उपायुक्त, जिला उद्योग केंद्र

Posted By: Jagran