जागरण संवाददाता, मथुरा: कोरोना संक्रमित हो चुके लोगों को सावधान रहने की जरूरत है, क्योंकि कोरोना का वायरस उन लोगों को भी अपने चपेट में ले रहा है, जो संक्रमित होने के बाद एक महीने पहले निगेटिव भी हो चुके हैं। इसके बाद स्वास्थ्य अधिकारियों में खलबली मच गई है। साथ ही जिम्मेदारों ने दोनों ही मरीजों को लेकर स्टडी भी शुरू कर दी गई है कि आखिर किस कमी के चलते एक महीने बाद ही दोनों लोग संक्रमित हो गए हैं।

मंगलवार को क्यूआरटी प्रभारी डा. भूदेव सिंह ने बताया कि जिले में दो मरीज सामने आए हैं, जो एक महीने के बाद फिर कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। इन दोनों में एक वृंदावन के बुजुर्ग हैं तो दूसरा मरीज सुरीर का रहने वाला है। इन मरीजों की एक सप्ताह पहले तबीयत खराब हुई। चिकित्सक से संपर्क किया। इसके बाद बुखार की दवा लेने के साथ जब लक्षण कोरोना वाले महसूस हुए तो जांच कराई, जिसमें दोनों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इनमें से सुरीर निवासी मरीज को केएम मेडिकल कालेज में भर्ती किया गया है, जबकि वृंदावन निवासी मरीज दिल्ली के एक निजी हास्पिटल में भर्ती हैं। हालांकि अभी दोनों मरीजों की स्थिति नार्मल है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस