मैनपुरी, जागरण टीम। मुलायम सिंह यादव के निधन से खाली हुई मैनपुरी की लोकसभा सीट पर उपचुनाव सोमवार को है। अपने मताधिकार का प्रयोग जरूर करें और दूसरों को भी वोट करने के लिए प्रेरित करें। यदि आपके पास वोटर पर्ची नहीं है तो यहां पढ़िए किन दस्तावेजों से आप वोट डाल सकते हैं।

मतदाता फोटो पहचान पत्र के विकल्प

जिला निर्वाचन अधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने बताया कि उप चुनाव के लिए मतदाता फोटो पहचान पत्र के विकल्प तय किए गए हैं। मतदाता पहचान पत्र नहीं होने पर मतदाता वैकल्पिक फोटो पहचान पत्र दस्तावेजाें में से कोई एक प्रस्तुत कर सकते हैं।

डीईओ ने बताया कि ऐसे मतदाताओं को पहचान के लिए आधार कार्ड, मनरेगा जाब कार्ड, बैंको, डाकघराें द्वारा जारी किए गए फोटोयुक्त पासबुक, श्रम मंत्रालय की योजना के तहत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, एनपीआर के तहत आरजीआइ द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, भारतीय पासपोर्ट, फोटो युक्त पेंशन दस्तावेज, केंद्र, राज्य सरकार, लोक उपक्रम, पब्लिक लिमि. कंपनियाें द्वारा अपने कर्मचारियाें को जारी किए गए फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र, सांसदों, विधायकाें, विधान परिषद सदस्याें को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र, यूनिक डिसएबिलिटी आइडी, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार में से कोई एक दस्तावेज प्रस्तुत करना होगा।

1756 मतदेय स्थलों से होगा मतदान का लाइव प्रसारण

उप चुनाव के दौरान भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर मतदान का लाइव प्रसारण होगा। मैनपुरी में शामिल चार विधानसभाओं के 1756 मतदेय स्थलों पर वेबकास्टिंग के लिए कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। मतदान से एक घंटे पहले शुरू होने वाला यह काम ईवीएम सील तक जारी रहेगा।जिला निर्वाचन अधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह के निर्देश पर वेबकास्टिंग के लिए कार्मिकों को प्रशिक्षण देने का काम बीते दिनों विकास भवन में हुआ था।

ये भी पढ़ें...

Mainpuri By Election: 17.50 लाख मतदाता लिखेंगे प्रत्याशियों का भाग्य, कल होगा मतदान, पोलिंग पार्टियां रवाना

वेबकास्टिंग प्रभारी- डीसी मनरेगा पीसी राम, एडीपीआरओ-नोडल रोहित कुमार आदि ने मतदेय स्थलों मतदान के लाइव प्रसारण के लिए कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया था। मतदेय स्थलों पर कैमरे लगाने के लिए एंगल भी बताया गया था। इसके लिए भारत निर्वाचन आयोग ने एक कंपनी को काम भी सौंपा है। अब पांच दिसंबर को होने वाले मतदान के दिन सभी मतदेय स्थलों से लाइव प्रसारण होगा, इसे भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट के अलावा जिला मुख्यालय पर स्थापित होने वाले कंट्रोल रूम में ही देखा जा सकेगा।

मतदान पर सीधी रहेगी नजर

वेबकास्टिंग से मतदान के दिन हर मतदान केंद्र सीधी निगरानी में रहेगा। वेब कैमरे लगाकर मतदान केंद्रों पर सीधी नजर रखी जाएगी, लेकिन इसका लाइव प्रसारण जनता के लिए नहीं खोला जाएगा। निर्वाचन से जुड़े अधिकारी ही वेबकास्टिंग का लाइव प्रसारण देख सकते थे। प्रसारण मतदान शुरू होने से एक घंटा पहले शुरू होगा और ईवीएम सील होने तक जारी रहेगा।

जसवंत नगर भी शामिल

वेबकास्टिंग के लिए जसवंतनगर विधानसभा को भी शामिल किया गया है। इस विधानसभा के 483 मतदेय स्थलों से वेबकास्टिंग कराने का जिम्मा इटावा प्रशासन का होगा।

विधानसभा-                  मतदान केंद्र                                  मतदेय स्थल

  • मैनपुरी-                           256                                               420
  • भोगांव-                            331                                              451
  • किशनी-                          330                                               410
  • करहल-                           352                                              475
  • जसवंत नगर-                     339                                             483

यह निभाएंगे दायित्व

वेबकास्टिंग के लिए पंचायत सहायक, रोजगार सेवक और जन सेवा संचालकों के आपरेटरों के अलावा शिक्षा मित्र इस दायित्व को निभएंगे। इसके लिए सभी को मतदान से जुड़ी जरूरी बातें समझाने के अलावा कैमरे का एंगल भी बताया गया है। पीसी राम, प्रभारी वेबकास्टिंग

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट