जागरण संवाददाता, मैनपुरी: यूपी बोर्ड परीक्षा में पहले दिन नकल रोकने के इंतजाम कारगर नजर आए। नकल माफिया सीसीटीवी और सुरक्षा प्रबंधों के खौफ में नजर आये। ऑडियो-वीडियो से निगरानी के बीच नकल की कोशिशें नाकाम हो गईं। सख्ती का असर ये है कि पहली पाली में हाईस्कूल में 3860 छात्र-छात्राएं पेपर देने ही नहीं पहुंचे। पेपर के दौरान सचल दलों के साथ अफसर भी केंद्रों पर दौड़ते रहे। परीक्षा के दौरान आलीपुर खेड़ा में एक फर्जी परीक्षार्थी भी पकड़ा गया।

उप्र बोर्ड की हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाओं की शुरुआत मंगलवार को हिदी के पेपर के साथ हुई। परीक्षा में नकल रोकने के लिए इस बार हाईटेक इंतजामों के साथ भारी-भरकम सुरक्षा प्रबंध भी किए गए हैं। सुबह की पाली में हाईस्कूल का हिदी का पेपर सीसीटीवी की निगरानी में खोला गया। नकल रोकने के लिए केंद्रों में आंतरिक सचल दल निगहबानी करते रहे तो स्टेटिक और सेक्टर मजिस्ट्रेट भी सक्रिय दिखे। नकल रोकने के लिए गठित सचल दलों ने भ्रमण कर बोर्ड परीक्षाओं का हाल देखा और तकनीकी संसाधन भी परखे। केंद्रों पर पुलिस भी भीड़ रोकने के साथ ही शांति व्यवस्था बनाए रखने को मुस्तैद रही।

घिरोर में एसडीएम अनिलकुमार कटियार व डीआइओएस मनोज वर्मा ने पंडित शम्भू नाथ इंटर कालेज, दयानंद इंटर कालेज, जीजीआइसी का निरीक्षण किया। सुबह की पाली में शम्भूनाथ इंटर कॉलेज में कुल 357 परीक्षार्थियों में 45 अनुपस्थित रहे। दयानंद इंटर कॉलेज में 28 अनुपस्थित रहे। जागीर क्षेत्र में दरबारी लाल इंटर कालेज संजापुर मे 55, अजीतगंज केन्द्र पर 24 परीक्षार्थी नहीं आए।

बेवर में भी सेक्टर मजिस्ट्रेटों ने परीक्षा का जायजा लिया। पहली पाली में अमर शहीद इंटर कॉलेज में 41, आदर्श जनता इंटर कॉलेज में 45, भारतीय विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में 9, इंद्रजीत शिक्षा सदन जोत में 68 व महारानी लक्ष्मीबाई बालिका इंटर कॉलेज में 33 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी।

करहल में जैन इंटर कालेज में हाई स्कूल के 23, इंटर के सात, परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। आजाद हिद इंटर कालेज में पहली पाली में 20 व इंटर में 12, नर सिंह यादव इंटर कालेज में हाई स्कूल में 25 व इंटर 13, राजकीय कन्या इंटर कालेज में हाई स्कूल में 20 छात्र परीक्षा देने नहीं आए। एसडीएम रतन कुमार वर्मा, सीओ अशोक कुमार ने केंद्रों का निरीक्षण किया। जिला विद्यालय निरीक्षक मनोज कुमार वर्मा ने बताया कि परीक्षा केंद्रों पर नकल रोकने के प्रभावी इंतजाम किए गए हैं।

कुसमरा चौराहे पर लगा जाम

कुसमरा चौराहे पर पेपर समाप्त होते ही जाम शुरू हो गया। चौराहे पर कोई पुलिस कर्मी नहीं लगाया गया। छात्र जाम में फंसे रहे। चौराहे पर चारों तरफ वाहनों की कतारें लगी रहीं। जाम फंसे कई छात्र पैदल ही परीक्षा केंद्र के लिए रवाना हुए।

गेट के बाहर हुई तलाशी

परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थियों को नकल ले जाने से रोकने के लिए दोहरी व्यवस्था की गई थी। प्रवेश से पहले सघन तलाशी ली गई। छात्राओं की जांच के लिए महिला शिक्षकों को लगाया गया था। इसके बाद परीक्षा कक्ष में भी तलाशी हुई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस