जागरण संवाददाता, मैनपुरी: मंगलवार को सपा के अंदरखाने की राजनीति कुछ बदली-बदली थी। सपा के अंदर एक-दूसरे के विरोधी माने जाने पार्टी के प्रधान राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव और शिवपाल ¨सह यादव के बीच एक वैवाहिक कार्यक्रम में काफी देर तक बातचीत होती रही। सैफई परिवार में विवाद के बाद शायद ये पहला मौका है, जब दोनों नेताओं के बीच सार्वजनिक स्थान पर बातचीत हुई। सपाई इसे पार्टी और परिवार के अच्छे संकेत मान रहे हैं।

शिवपाल ¨सह यादव के करीबी पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुजान ¨सह यादव के बेटे अनिल की शादी प्रोफेसर रामगोपाल यादव के भांजे एमएलसी अर¨वद यादव की भतीजी प्रीती के साथ तय हुई है। मंगलवार को औंछा में अनिल का तिलक समारोह था। इस समारोह में शिवपाल ¨सह भी आए थे और प्रोफेसर रामगोपाल यादव भी।

बीते करीब डेढ़ साल से सैफई परिवार में विवाद चल रहा है। प्रोफेसर रामगोपाल और शिवपाल यादव के बीच अंदरखाने तलवारें ¨खची रहीं। दोनों के बीच बातचीत तो बंद हुई ही, मंचों से संकेतों में खिलाफ बयानबाजी भी हुई। बीते कुछ दिनों से परिवार और पार्टी में कुछ अच्छा होने की चर्चाएं शुरू हुई थीं। ऐसे में पार्टी के नेताओं के चेहरों पर भी खुशी दिखाई दी। मंगलवार को दोनों नेता तिलक समारोह में पहुंचे। यहां करीब बीस मिनट तक शिवपाल यादव और प्रोफेसर रामगोपाल यादव के बीच बातचीत भी हुई। यहां शिवपाल यादव ने प्रोफेसर रामगोपाल यादव के पैर भी छुए। ये देख यहां मौजूद सपा नेताओं के चेहरे भी खिल गए। दरअसल, दोनों नेताओं के बीच चल रही खेमेबंदी से सपा के गढ़ मैनपुरी में भी दोनों के करीबी नेताओं के बीच पाले ¨खचे हैं। पूर्व में शिवपाल के कुछ करीबियों को पार्टी से निष्कासित भी कर दिया गया था। अब नए सियासी संकेत से ऐसे लोगों के चेहरों पर भी खुशी दिखाई दी। उनमें परिवार और पार्टी में माहौल बदलने की उम्मीद जगी है। इस दौरान एमएलसी अर¨वद यादव, एमएलसी डॉ. दिलीप यादव, विधायक सोबरन ¨सह यादव, पूर्व मंत्री आलोक शाक्य, ब्रजेश कठेरिया, असीम यादव, ब्लॉक प्रमुख बिल्लू यादव, सुनील यादव, सुनील अग्रवाल, योगेंद्र यादव, मनोज यादव, रवि यादव, सोनू यादव, सुबोध यादव मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप