जासं, मैनपुरी: अयोध्या में प्रस्तावित भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए बृज में संचालित हो रहे निधि संग्रह अभियान में जिले की स्थिति बेहतर बनी हुई है। अब तक 85 लाख रुपये दान के जरिए एकत्र हो चुके हैं।

निधि संग्रह अभियान के संबंध में गुरुवार की सुबह जिला प्रचारक आरएसएस सुदर्शन चक्र और विहिप के कार्यकारी जिलाध्यक्ष सुमित चौहान ने कार्यालय पर अभियान में लगे साथियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि बृज में जिले की स्थिति सबसे अच्छी है। हमें लोगों को भरपूर सहयोग मिल रहा है। अभी तक लगभग 85 लाख धन संग्रह हो चुका है। 23 जनवरी तक हमें अपनी पूरी क्षमता के साथ हर घर तक पहुंचना होगा।

भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप चौहान ने कहा कि जिन पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है वे अपने क्षेत्र के प्रत्येक घर से संपर्क करें। स्वेच्छा से जो भी धनराशि मिले, उसे स्वीकार करते हुए दानदाता को उसकी रसीद उपलब्ध कराई जाए। दोपहर में कस्बा करहल में पहुंचकर कार्यकर्ताओं से भेंट की। इस मौके पर जिला कार्यवाह रामजी भी साथ रहे। सेंट मैरीज स्कूल संचालक ने दिया चेक

गुरुवार को भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए सेंट मैरीज स्कूल के संचालक दीपक दास और मनोरमा दास ने 2.21 लाख रुपये का चेक विभाग संघ चालक वीरेंद्र सिंह चौहान व जिला कार्यवाह रामजी को भेंट किया। भोगांव के मुहल्ला कबीरगंज निवासी संतोष कुमारी ने भी 11,101 रुपये का दान दिया। संतोष कुमारी राममंदिर आंदोलन में सक्रिय रूप से शामिल रह चुकी हैं। शहीद मेला को आय-व्यय नियामक समिति की हुई बैठक

संसू, बेवर: शहीद मेला की तैयारियों को लेकर गुरुवार को शहीद स्मारक भवन पर आय-व्यय नियामक समिति की एक बैठक हुई। जिसमें टीम के सदस्यों ने मेला में लगने वाली दुकानों और सभी व्यवस्थाओं को लेकर चर्चा की।

जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह के निर्देश पर नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी दुर्गेश कुमार, नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि सरितकांत भाटिया व मेला कमेटी प्रबंधक राज त्रिपाठी व सदस्य राजीव गुप्ता की संयुक्त बैठक में क्षेत्रीय दुकानदार, अन्य जिलों आए दुकानदारों ने प्रतिभाग किया। वहीं कोरोना काल के संकट को देखते हुए परंपरागत लगने वाले मेले को जीवंत और प्रभावी बनाने के लिए तमाम विषयों पर चर्चा की गई। शहीद मेले की प्रासंगिकता और भव्यता के लिए प्रयास और आने वाली समस्याओं पर निजात पाई जा सके।

जिलाधिकारी का निर्देश है कि मेले की आय-व्यय पर पारदर्शिता पूर्ण रूप से रखी जाए। इसलिए नगर पंचायत के चेयरमैन को मेला कमेटी में शामिल किया गया है। शहीद मेले में नगर पंचायत और मेला आयोजन समिति की संयुक्त निगरानी रहेगी। आय व्यय पर पूरी तरह से पारदर्शिता कायम रखी जाएगी। नगर पंचायत व शहीद मेला आयोजन समिति का बैंक मे संयुक्त खाता खोलेगी। मेला समापन के बाद आय-व्यय का हिसाब किताब होगा। दुकान आवंटन में पारदर्शिता का पालन किया जाएगा।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप