जासं, मैनपुरी : शुक्रवार को मौसम नासाज रहा। गुरुवार रात को बूंदाबांदी के बाद शुक्रवार सुबह आसमान पर बादलों का डेरा रहा। घना कोहरा भी आबादी के चारों ओर से गलियों में घुस आया। दोपहर से पहले बयार चलने की वजह से कोहरा साफ हुआ तो सूरज ने दर्शन दिए, जिससे सभी को राहत मिली।

कई दिन से खराब मौसम का हाल लगातार बिगड़ता जा रहा है। गुरुवार रात करीब दो बजे हल्की बूंदाबांदी होने से मौसम और सर्द हो गया। आसमान पर बादलों के साथ शुक्रवार को सुबह-सुबह आबादी के अंदर आए घने कोहरे को देखकर सैर पर जाने वाले लोग हैरान रह गए। सुबह होने के बाद आसमान पर बादलों का डेरा होने से सूरज नहीं निकल सके। कोहरा के बीच चली बयार ने सर्दी के सितम को और बढ़ा दिया। गलन और ठिठुरन में इजाफा हुआ।

सुबह 11 बजे आबादी और राहों पर जमा कोहरा अचानक हल्की बयार चलने से हटा तो सूरज देव ने दर्शन दिये। कुछ देर बाद आसमान पर बादल आ जाने से धूप गायब हो गई। शीतल बयार भी शरीर को भेदती रही। दोपहर एक बजे के बाद आसमान पूरी तरह से साफ हुआ तो धूप भी ठीक-ठाक निकली, जिससे सभी ने राहत महसूस की।

मौसम के ऐसे हाल के बाद भी तापमान में कुछ सुधार नजर आया। यह न्यूनतम 10.2 और अधिकतम 21.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। वैसे, इसी दिन बीते साल न्यूनतम तापमान 9.3 और अधिकतम 23.2 डिग्री सेल्सियस रहा था। कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी नरेंद्र कुमार के अनुसार, अब मौसम अगले दिनों में कुछ राहत देने के बाद फिर से परेशानी वाला हो सकता है।

Edited By: Jagran