जासं, मैनपुरी: जिले के 98 हजार बुजुर्गो को मिलने वाली पेंशन के सत्यापन में लेटलतीफी हावी है। डीएम के निर्देशों का एसडीएम और बीडीओ पर असर नहीं हो रहा है। अब मुख्य विकास अधिकारी ने लाभार्थियों के सत्यापन का काम तीन दिन में करके पात्रों की सूची उपलब्ध कराने को कहा है।

समाज कल्याण विभाग द्वारा बुजुर्गो को पेंशन दी जाती है। ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों के गरीब वृद्धों को हर माह पांच सौ रुपये मिलते हैं। पेंशन पाने वाले वृद्धों की हर साल जांच कराई जाती है। सत्यापन का कार्य बीते माह से चल रहा है, लेकिन अब तक पूरा नहीं हो सका है। गुरुवार को मुख्य विकास अधिकारी ईशा प्रिया ने एसडीएम और बीडीओ को पत्र भेजकर तीन दिन में सत्यापन का काम पूर्ण कर विवरण समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय में उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। 98 हजार वृद्ध पा रहे पेंशन

जिले में समाज कल्याण की इस पेंशन योजना का लाभ 98,420 बुजुर्गों को मिल रहा है। ऐसे लाभार्थियों का भौतिक सत्यापन, सोशल आडिट कराए जाने और आधार, मोबाइल नंबर, बैंक से सीडिग कराने को बीते माह डीएम ने एसडीएम और बीडीओ को पत्र लिखा था, लेकिन अफसरों ने दिलचस्पी नही दिखाई। यही वजह है कि यह काम आज तक किशनी नगर पंचायत के अलावा अन्य निकाय और ब्लाकों में पूरा ही नहीं हो सका है।

यह हो सका काम

अब तक किशनी नगर पंचायत में ही यह काम पूरा हो सका है। मैनपुरी नगर पालिका और नगर पंचायत बेवर, घिरोर, कुरावली, ज्योंति खुड़िया, भोगांव, करहल, किशनी और कुसमरा में तो यह काम एक माह बाद भी पूरा नहीं हो सका। वहीं, बरनाहल ब्लाक में 52, जागीर में 37, घिरोर में 51 और करहल में 57 ग्राम पंचायतों में से एक में भी पूरा होने की जानकारी अभी तक समाज कल्याण विभाग को नहीं दी गई। यहां हुआ कुछ काम

ब्लाक बेवर की 78 में से 26, किशनी की 57 में 24, कुरावली की 58 में से 12 और मैनपुरी की 52 में से 19, सुल्तानगंज की 65 में 39 ग्राम पंचायतों में ही वृद्धों के सत्यापन का काम पूरा हो सका है।

Edited By: Jagran