संसू, बरनाहल : बुखार से बिगड़े हालात काबू में किए जाने के लिए प्रशासनिक और स्वास्थ्य टीम ने बरनाहल के सोथरा गांव में डेरा डाल लिया है। खुद सीडीओ अपनी निगरानी में गांव की व्यवस्थाओं को संभालने में लगे हैं। यहां दो सैकड़ा से ज्यादा लोग अब भी बुखार की चपेट में हैं। निर्देश के बावजूद गांव में गंदगी का निस्तारण नहीं हो पा रहा है।

विकास खंड बरनाहल के गांव सोथरा में बुखार से हालात सामान्य नहीं हो पा रहे हैं। दो महिलाओं की मौत के बाद खुद सीडीओ विनोद कुमार ने गांव की कमान अपने हाथों में ली है। बुधवार की दोपहर सीडीओ ने सीएमओ डा. पीपी सिंह के साथ गांव का भ्रमण किया। अधिकारियों ने मेडिकल कैंप में पहुंचकर स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी जुटाई और बाद में गांव की गलियों का भ्रमण किया। ग्रामीणों को बेहतर उपचार का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि जिन मरीजों को भी समस्या हो रही है, उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कर वहां से उपचार दिलाया जाएगा। मरीज झोलाछाप के पास न जाएं। स्थिति यह है कि अभी भी गांव में दो सैकड़ा से ज्यादा लोग बुखार से बीमार हैं। सबसे बड़ी समस्या गंदगी की है। सीडीओ द्वारा निर्देश दिए जाने के बावजूद जिम्मेदार हरकत में नहीं आए हैं। अब लोगों ने गंदगी का निराकरण कराए जाने की मांग की है। इन गांवों में भी चिताजनक हैं हालात

विकास खंड क्षेत्र में गांव गढि़या जैन, ककर्रा, कसौली और सोथरा में भी स्थिति चिताजनक हैं। बुखार के सैकड़ों मरीजों को गैर जिलों के प्राइवेट अस्पतालों में अपना महंगा इलाज कराना पड़ रहा है।

Edited By: Jagran