संस, कुलपहाड़ (महोबा): बुधवार रात करीब दस बजे लाड़पुर के पास 11000 हाईटेंशन लाइन का तार टूट जाने से कुलपहाड़ कस्बा के साथ उससे जुड़े अन्य कस्बा और करीब 135 गांवों की बिजली सप्लाई ठप हो गई। पूरी रात बिजली विभाग के कर्मचारी फाल्ट तलाशने के लिए पेट्रोलिग करते रहे। गुरुवार सुबह दस बजे टूटा तार जोड़ने के बाद करीब दस घंटे बाद आपूर्ति बहाल हो सकी। इस दौरान सबसे अधिक समस्या किसानों को सिचाई और सुबह घरों में पानी को लेकर रही। इस समय कुलपहाड़ तहसील क्षेत्र में बिजली की समस्या से किसान और व्यापारी सभी परेशान हैं।

महोबा सबस्टेशन से कुलपहाड़ सबस्टेशन को बिजली आपूर्ति जाती है। यहां से अनजर, बेलाताल, धवर्रा सप्लाई की जाती है। बुधवार रात बताते हैं किसी पक्षी के टकराने से 11000 हाईटेंशन लाइन में फाल्ट आ गया। लोगों ने बिजली विभाग को इसकी सूचना दी। कर्मचारी पूरी रात पेट्रोलिग करके फाल्ट का पता लगाते रहे। गुरुवार सुबह करीब पांच बजे कुलपहाड़ और लाड़पुर के बीच बिजली लाइन का एक तार टूटा मिला। दो खंभे के बीच का तार जोड़ने में करीब पांच घंटे का समय लग गया। तार सही होने के बाद सुबह करीब दस बजे आपूर्ति बहाल की जा सकी। करीब दस घंटे तक बिजली गुल रहने से बेलाताल, कुलपहाड़, अजनर कस्बा के साथ 135 गांवों पूरी रात अंधेरे में रहे। सप्लाई न आने से घरों में सुबह पानी सप्लाई भी नहीं पहुंच सकी। इन हालातों में हैंडपंप का सहारा लेना पड़ा। एसडीओ विकास श्रीवास्तव ने बताया कि लाड़पुर के पास 11000 हाईटेंशन लाइन का तार टूटने से सप्लाई बंद हो गई थी, गुरुवार सुबह लाइन सही करा कर आपूर्ति बहाल कर दी गई।

Edited By: Jagran