महोबा, जेएनएन। शहर के हवेली दरवाजा स्थित होली पब्लिक स्कूल में खसरे का टीका लगने के बाद एक एक कर आठ बच्चों की हालत बिगड़ गई। स्कूल प्रबंधन ने आननफानन सभी बच्चों को जिला अस्पताल पहुंचाया। स्कूल में दोपहर बाद टीकाकरण होते ही हिमानी, अदीबा नाज, सनोबर, जुनेर, तैबा, आशिका व उमा को चक्कर आने के साथ मिचली व शरीर में टूटन महसूस होने लगी थी। विद्यालय प्रबंधन ने सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां हालत में सुधार बताया जा रहा है।

# कानपुर: 70 बच्चों की हालत बिगड़ी 

उधर, मीजल्स रुबेला (एमआर) टीकाकरण के दौरान कानपुर में खलबली मच गई। गुरुवार को शहर के कई स्कूलों में मीजल्स-रुबेला (एमआर) टीका लगाए जाने के दौरान 70 बच्चों की हालत बिगड़ गई। कौशलपुरी स्थित सनातन धर्म बालिका इंटर कॉलेज में टीका लगाने के कुछ देर बाद कई बच्चियों को सिरदर्द के साथ हालत बिगडऩे लगी। मेडिकल कॉलेज के बाल रोग विभागाध्यक्ष डॉ. यशवंत राव को सूचना दी गई और बच्चों को भर्ती कराया गया। इस बीच यशोदा नगर के शारदा शिशु विद्या मंदिर और रघुनाथ प्रसाद इंटर कॉलेज से भी टीकाकरण के बाद बच्चों की हालत बिगडऩे की सूचना आई। इसपर बच्चों को तत्काल एंबुलेंस से बाल रोग चिकित्सालय भेजा गया। दोपहर तीन बजे तक अस्पताल में 70 बच्चे उपचार के लिए पहुंचे। कानपुर सीएमओ डॉ. अशोक शुक्ल के मुताबिक, एमआर टीका लगने के बाद बच्चे घबरा गए थे। कुछ बच्चों को सिरदर्द, कुछ को सांस लेने और बेचैनी की शिकायत की थी। बच्चों को सरकारी अस्पताल और नर्सिंग होम में इलाज के बाद हालात सामान्य होते ही घर भेजा गया। 

# सीतापुर: रूबेला टीकाकरण से बीस बच्चे बीमार
गौरतलब हो कि दावा तो यह था कि रूबेला का टीका पूरी तरह सुरक्षित है और इससे बच्चों को नुकसान नहीं होगा लेकिन, बीते मंगलवार को रूबेला का टीका लगते ही सीतापुर में 20 बच्चे बीमार हो गए। बच्चों के अचानक बीमार होने के लिए अभिभावकों ने जहां वैक्सीन को जिम्मेदार ठहराया, वहीं जिम्मेदार अधिकारियों ने अलग-अलग तर्क भी बच्चों की बीमारी को रहस्यमय बना दिया। सीतापुर स्थिति मोहरनिया पूर्व माध्यमिक विद्यालय में मंगलवार को एएनएम मीरा देवी टीकाकरण कर रही थीं। इसी दौरान टीका लगने के बाद विद्यालय के 20 बच्चे बीमार हो गए। बीमार छात्र-छात्राओं को महोली सीएचसी में भर्ती कराया। यहां पर डॉक्टरों ने हालत नाजुक बताते हुए एक बच्चे को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। 

 

 

Posted By: Anurag Gupta