महराजगंज : निचलौल डिपो को अब महराजगंज डिपो के नाम से जाना जाएगा। निचलौल डिपो इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया। शासन का फरमान मिलते ही भवन और बसों में निचलौल डिपो का नाम मिटाकर धड़ाधड़ महराजगंज डिपो किया जा रहा है।

जनपद मुख्यालय पर स्थिति इस डिपो को अपनी पहचान मिलने से नगर के लोगों में भी उत्साह हैं। 1989 में निचलौल डिपो की स्थापना हुई थी। गोरखपुर से कटकर महराजगंज जिले का सृजन हुआ, लेकिन डिपो का नाम निचलौल ही रह गया। वर्ष 2007 में धनेई - धनेवा के पास नया वर्कशाप बनाया गया। मुख्यालय होने के बाद भी डिपो की पहचान निचलौल से होती रही। कुछ दिन पहले नगर के भाजपा विधायक जयमंगल कन्नौजिया ने निचलौल डिपो का नाम बदलकर महराजगंज डिपो करने के लिए शासन को पत्र लिखा। साथ ही परिवहन मंत्री और निगम के निदेशक से मुलाकात कर उनके पत्र पर विचार करने को कहा था। इस डिपो से कुल 44 बसों का संचालन होता हैं। इसमें चार अनुबंधित बसें भी शामिल हैं।

नए फरमान के बाद इन बसों पर निचलौल डिपो का नाम मिटाकर महराजगंज डिपो लिखा जा रहा है। क्षेत्रीय प्रबंधक डीबी सिंह ने कहा कि शासनादेश आने के बाद निचलौल डिपो का नाम बदलकर महराजगंज हो गया है। बसों पर लिखा नाम बदलवाया जा रहा है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस