महराजगंज : नेपाल से मटर की तस्करी करने वालों ने शुक्रवार की रात निचलौल के एसडीएम प्रमोद कुमार के सरकारी वाहन में पिकअप से टक्कर मार दी। एसडीएम की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घेराबंदी कर पिकअप को पकड़ लिया, लेकिन तस्कर फरार हो गए।

रात करीब 11 बजे एसडीएम को कस्बे के चमनगंज पुल से मटर तस्करों के गुजरने की सूचना मिली थी। वह जांच करने निकले और निचलौल-झुलनीपुर मार्ग की ओर बढ़ रहे थे, इसी बीच विपरीत दिशा से आई तेज रफ्तार पिकअप ने टक्कर मार दी। हालांकि, एसडीएम के वाहन की रफ्तार कम होने से बड़ा हादसा बच गया। एसडीएम ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने पीछा किया तो तस्कर पिकअप छोड़कर फरार हो गए। एसडीएम प्रमोद कुमार ने बताया कि तस्करों के खिलाफ लगातार अभियान चलाए जाने के कारण पिकअप से टक्कर मारकर वाहन पलटाने का प्रयास किया गया। थाना प्रभारी निर्भय सिंह ने बताया कि एसडीएम के चालक की तहरीर पर अज्ञात आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

टीका न लगने से नाराज लोगों ने की सड़क जाम

महराजगंज : निचलौल थाना क्षेत्र के ग्राम रायपुर में स्वास्थ्य विभाग द्वारा शनिवार को कोविड-19 टीकाकरण शिविर का आयोजन किया था। इस दौरान हुए हंगामे के बाद स्वास्थ विभाग की टीम कुछ लोगों को टीका लगाने के बाद वापस अस्पताल लौट गई। जिससे नाराज ग्रामीणों ने कांग्रेस नेता राजू कुमार गुप्ता के नेतृत्व में निचलौल-सिसवा मार्ग को जाम नारेबाजी करने लगे। लोगों के समझाने के बाद ग्रामीण किसी तरह सड़क से हटे। तब जाकर सड़क पर आवागमन शुरू हुआ। इस दौरान किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष एवं किसान नेता राजू कुमार गुप्ता ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों को टीकाकरण करने के लिए गांव पर शिविर लगाई थी। इस दौरान स्वास्थ कर्मियों ने कुछ लोगों को टीकाकरण करने के बाद वापस अस्पताल लौट गए। वही घंटों से कतार में खड़े लोग टीकाकरण के लिए इधर उधर भटकते रहे।

Edited By: Jagran