महाराजगंज: भिटौली विद्युत उपकेंद्र अंतर्गत गनेशपुर के टोला तुलसीपुर में लटकते जर्जर विद्युत तार मौत को दावत दे रहे हैं। कई बार विद्युत तार टूट चुके हैं।तीस साल हो गए लेकिन अभी तक इसे नहीं बदला गया। ग्रामीणों की जान खतरे में है,लेकिन किसी भी प्रशासनिक अधिकारी और जनप्रतिनिधियों की निगाह इस खतरे पर नहीं है ।केवल विद्युत विभाग बिल लेने के लिए लोगों को परेशान कर रहा है।जर्जर तार नहीं बदले जा रहे हैं ।तुलसीपुर निवास अनिल शुक्ला कहते हैं कि हमारे दरवाजे से केदार शर्मा के दरवाजे तक विद्युत तार जर्जर हो गए हैं और नीचे लटक रहे हैं। बड़े वाहन ट्रैक्टर ट्राली पर सामान लादकर गुजरना बड़ा घातक है। आनंद शुक्ल कहते हैं कि लटकते तारों के भय से वह अपना रास्ता बदलकर दूसरी तरफ से निकलते है। गुफरान ने कहा कि लटकते पुराने जर्जर तार दुर्घटना को दावत दे रहे हैं। यह तार लकड़ी की फट्टियों में फंसा कर बांधे गए हैं।

कब किस स्थान पर तार टूट जाए और दुर्घटना हो जाए, कोई भरोसा नहीं है। विजय शुक्ल बताते हैं कि पिछले महीने मोहल्ले में तार टूटकर गिर गया था। बड़ा हादसा होते-होते बचा था। संगम शुक्ला ने बताया कि बिजली के तार इतने नीचे लटकते हैं कि किसान सिर के ऊपर चारे का बोझ लेकर निकलता है तो दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।लुकमान ने कहा कि विद्युत विभाग को लटकते तारों को ऊंचा कराना चाहिए तथा पुराने जर्जर तार को बदलना चाहिए। अन्यथा घटनाएं होती रहेंगी और कोई बड़ी घटना भी हो सकता हैं।अवर अभियंता अमित श्रीवास्तव का कहना है कि सर्वे किया गया है। शीघ्र ही जर्जर तारों को बदला जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021