महराजगंज:सरकार के आदेश के बावजूद भी जिम्मेदार बेसहारा पशुओं को गोसदन नहीं भेज रहे हैं। जिससे दर्जनों की संख्या में बेसहारा पशु सड़कों व गलियों में मारे-मारे फिर रहे हैं। आज भी नौतनवा में दर्जनों की संख्या में बेसहारा पशु घूमते हुए देखा जा सकता हैं। बाजारों की दुकानों एवं खेतों में नुकसान पहुंचाने पर लोग डंडा लेकर दौड़ा रहे हैं। यह बेसहारा पशु जाएं तो कहां जाएं। यह सवाल उभर कर सबके सामने आ रहा है। वहीं जिम्मेदार मुख दर्शक बने हुए हैं। उनको सरकार के आदेश का कोई भय नहीं। नगर पालिका परिषद नौतनवा में पिछले कई वर्षों से बेसहारा पशुओं की भरमार है। मुख्यमंत्री ने का आदेश दिया कि बेसहारा पशुओं को गो सदन भेजा जाए। नपा प्रशासन बेसहारा पशुओं को मधवलिया गो सदन भेजने में नगर प्रशासन जुट गया। जिसमें अब तक सैकड़ों से अधिक पशुओं को मधवालिया गोसदन भेजा जा चुका है। अब सवाल यह है कि अभी भी नगर के गलियों, सड़कों, चौक-चौराहों पर इन बेजुबानों को देखा जा रहा है। भोजन की तलाश में खेतों की ओर रुख करें तो खेती नुकसान होने से किसानों द्वारा भगाया जाता है। नगर की दुकानों में खाने के लिए झपटते तो वहां भी मार खानी पड़ती। नगरवासी धर्मात्मा जायसवाल, दयाराम जायसवाल, अवधेश, लल्लू जायसवाल, बलराम गौंड़, संदीप जोशी, पवन जायसवाल आदि लोगों ने बताया कि बेसरा पशुओं को प्रशासन संज्ञान लेकर मधवलिया गोसदन भेजने में गंभीर नहीं दिखाई दे रही है। इन पशुओं द्वारा किसानों व दुकानदारों और राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

इस संबंध में अधिशासी अधिकारी वीरेंद्र कुमार राव का कहना है कि नगर में घूम रहे बेसहारा पशुओं को गो सदन भेजा जा रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप