महराजगंज: बारिश का मौसम आते ही गांवों में जगह-जगह फैली गंदगी व जल जमाव के कारण मच्छरों की संख्या काफी बढ़ गई है। कुछ दिनों तक थोड़ा शांत पड़े रहने वाले मच्छर अपने अनुकूल मौसम आता देख पूरे रौ में आ गए हैं और लोगों के शरीर में डंक मारकर जीना दूभर कर दिए हैं। हालत यह है कि मच्छरों की बढ़ती हनक को देखकर ग्रामीण मच्छर जनित बीमारियां के फैलने की आशंका से सहमे हुए हैं।

गांवों में सड़कों व नालियों में फैली गंदगी व जल जमाव को दूर न किए जाने से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। महीनों से नालियों के जमे गंदे पानी के कारण मच्छरों की संख्या में तेजी से इजाफा देखा जा रहा है। सबसे खराब हाल दिन ढ़लने के बाद देखने को मिल रहा है। जब बाहर से काम धंधा निपटाकर लोग थके मांदे घर पहुंच रहे हैं तो पहले से टकटकी लगाकर इंतजार में बैठे मच्छर अचानक लोगों पर टूट पड़ रहे हैं और हाथ, पैर, पीठ आदि स्थानों पर डंक मारकर इस कदर बेहाल कर दे रहे हैं कि लोग बचाव के लिए चुपचाप मच्छरदानी में घुसना ही मुनासिब समझ रहे हैं। ऐसी स्थिति में लोगों की दिन का चैन व रात की नींद गायब हो गई है। मच्छरों के बढ़ते प्रकोप के कारण लोग इंसेफ्लाइटिस, डेगू, मलेरिया आदि बीमारियों की आशंका से सहमे हुए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि ग्रामपंचायतों में स्वच्छता व मच्छररोधी दवाओं के छिड़काव के लिए आए धन का दुरुपयोग आम बात है। यही कारण है कि मच्छरों का प्रकोप थमने की जगह दिन व दिन बढ़ता ही जा रहा है। इस संबंध में एडीओ पंचायत रामकृष्ण प्रसाद का कहना है कि गांव की साफ-साफ सफाई के लिए कर्मचारियों को कड़े निर्देश दिए गए हैं। लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran