महराजगंज: प्रदेश सरकार द्वारा पर्याप्त बिजली उपलब्ध कराने का दावा भले ही किया जा रहा है, लेकिन अनियमित कटौती, दनादन फाल्ट से उपभोक्ता हलकान है। जनपद को पर्याप्त बिजली नहीं मिल पा रही है। बिजली कटौती को लेकर त्राहि-त्राहि मचा हुआ है। शहर से गांव तक लोगों का जीना हराम है। इस समस्या को लेकर राजनैतिक दल व अन्य संगठनों का धरना प्रदर्शन भी हो रहा है। बावजूद समस्या का समाधान नहीं हो रहा है।

जिले को पर्याप्त बिजली आपूर्ति का आदेश पावर कारपोरेशन द्वारा दिया गया है। लेकिन यहां बिजली हवा के रूख पर चल रही है। लोगों को आदेश के मुताबिक भी बिजली नहीं मिल पा रही है। बिजली कटौती की समस्या को लेकर हर तबका परेशान है। कब आएगी, कब चली जाएगी। इसका अंदाजा लगा पाना बहुत मुश्किल है। बिजली की आवाजाही से जहां उद्योग धंधे चौपट हो रहे हैं। वहीं लोगों की दिनचर्या भी प्रभावित हो रही है। रोज की कटौती ने लोगों का जीना दुश्वार है। ग्रामीण क्षेत्र में तो बिजली आपूर्ति की स्थिति और भी बदतर है। अधिकांश ग्रामीण गांवों में बिजली के कनेक्शन के बाद भी ढिबरी में जीने को मजबूर हैं। बिजली के बिगड़ैल रवैया से उपभोक्ताओं में उबाल है।

इस संबंध में अधिशासी अभियंता हरिशंकर ने कहा कि बेहतर बिजली आपूर्ति के लिए प्रयास किया जा रहा है। जहां फाल्ट की शिकायत मिलती है, उसे तत्काल ठीक कराने का प्रयास किया जाता है। बिजली की अनियमित कटौती से पेयजल का संकट भी गहरा गया है।लाइट न रहने से लोगों के टुल्लू पंप काम करना बंद कर दे रहे हैं। जिससे लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है। इस समस्या से ज्यादा परेशानी महिलाओं को हो रही है। खाना बनाने व कपडे़ की धुलाई के लिए उन्हें पानी का इंतजार करना पड़ रहा है। बिजली कटौती की समस्या से तो आम नागरिक परेशान ही हैं। लेकिन परतावल, भिटौली, चौक, दरहटा तथा सदर क्षेत्र के शास्त्री नगरवासी लो वोल्टेज की समस्या से जूझ रहे हैं। जिसके कारण बल्ब की रोशनी ढिबरी की तरह है और पंखे की रफ्तार गायब है। लो वोल्टेज होने के कारण जहां कंप्यूटर के यूपीएस बैकअप नहीं ले रहे हैं, और कंप्यूटर नहीं खुल रहा है, वहीं व्यापारी मनोज का कहना है कि लो वोल्टेज के कारण फ्रिज काम नहीं कर रहा है।

Posted By: Jagran