महराजगंज: हरतालिका तीज जिले भर में पूरी श्रद्धा के साथ मनाया गया। महिलाओं ने निर्जला व्रत रखकर भगवान शंकर और माता पार्वती की विधि विधान से पूजन कर पति के दीर्घायु की कामना की। कन्याओं ने भी हरतालिका तीज पर उपवास रखकर मनोकामना पूरी करने का वरदान मांगा। महिलाओं व युवतियों ने शिवमंदिरों पर पहुंचकर भगवान शंकर, गौरी व गणेश की पूजा की तथा घर व मंदिर पर कथा के माध्यम से त्योहार की महत्ता को भी जाना। देर रात तक घरों, मंदिरों में भजन कीर्तन कर पूजन-अर्चन किया गया।

¨हदू धर्म के मुताबिक हरतालिका व्रत श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हस्त नक्षत्र के दिन होता है। महिलाओं द्वारा पति के लंबी उम्र व सुख समृद्धि की कामना तथा युवतियों द्वारा सुख, समृद्धि के साथ मनवांछित वर पाने को लेकर इस दिन घर एवं मंदिरों पर पहुंचकर भगवान शंकर तथा गौरी-गणेश की पूजा की जाती है। बुधवार को बड़ी संख्या में नगर व ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाली महिलाओं व युवतियों ने सुबह घर व मंदिरों पर पहुंचकर भगवान शिव, गणेश व गौरी की पूजा की तथा सुख-समृद्धि की कामना की। नगर के ¨सचाई विभाग, कोतवाली के पास, प्रमुख दुर्गा मंदिर, मऊपाकड़ स्थित दुर्गा मंदिर, पड़री स्थित शिवमंदिर में पहुंचकर महिलाओं ने भगवान की पूजा अर्चना करते हुए परिवार के सुख-समृद्धि की कामना की। कुछ महिलाओं ने घर व मंदिरों पर कथा सुनते हुए त्योहार की महत्ता को जाना। इसी प्रकार निचलौल, फरेंदा, परतावल, पनियरा, घुघली, बृजमनगंज, लक्ष्मीपुर, धानी, सिसवा, ठूठीबारी आदि जगहों पर भी महिलाओं व युवतियों ने व्रत रहते हुए मंदिरों पर पूजन-अर्चन किया।

Posted By: Jagran