महराजगंज: कोरोना से बचाव का टीका लगवाने और जांच कराने के लिए बुधवार को भी अस्पतालों व निर्धारित स्थलों पर लोगों की भीड़ उमड़ी रही। इस दौरान कुल 8312 लोगों को टीका लगाया गया और 2733 लोगों की जांच की गई।

जिला महिला अस्पताल, सीएचसी सहित 45 स्थानों पर टीका और जांच के लिए शिविर लगाई गई। हर केंद्रों पर उत्साह के साथ युवक, महिलाएं और पुरुषों की लंबी कतार लगी रहीं। जिला महिला अस्पताल पर तो अंदर कक्ष से लेकर बाहर गेट तक भीड़ लगी रही। सुबह 11 बजे तक दो लाइन में करीब दो-दौ सौ लोग खड़े रहे। लेकिन यहां कोविड नियमों का पालन होता नहीं पाया गया। अधिकांश लोग बिना मास्क के ही टीकाकरण और जांच के लिए पहुंचे थे। उधर भीड़ अधिक होने के कारण स्वास्थ्य कर्मियों और लोगों में कहासुनी भी हुई। लेकिन मौजूद पुलिस कर्मियों के हस्तक्षेप के कारण मामला शांत हो गया।

नोडल अधिकारी डा. आइए अंसारी ने बताया कि कुल 8312 लोगों को टीका लगाया गया है। एंटीजन से 1311 लोगों की जांच की गई है, जबकि आरटीपीसीआर जांच के लिए 1422 लोगों का नमूना भेजा गया है।

जिले में नहीं मिला कोई संक्रमित

महराजगंज: जिले में बुधवार को भी कोरोना संक्रमित एक भी मरीज नहीं मिला है। नोडल अधिकारी डा. आइए अंसारी ने बताया कि जनपद में कुल संक्रमितों की संख्या 12435 है। इसमें 12292 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। जबकि अब तक 140 की मौत हो चुकी है। वर्तमान में सक्रिय मरीजों की संख्या दो है।

सर्दी, जुकाम व खांसी के मिले 2386 मरीज

महराजगंज: स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए गए सर्विलांस अभियान के तहत जिले में सर्दी, जुकाम व कम खांसी के लक्षण वाले 2386 मरीज मिले हैं। जिनकी जांच कराई जा रही है। दरअसल नियमित टीकाकरण, कोविड टीकाकरण से वंचित लोगों तथा सर्दी, जुकाम, खांसी, सांस लेने में परेशानी, बुखार के साथ चकत्ते के लक्षण वाले व्यक्तियों को चिन्हित करने के लिए बीते सात सितंबर से 16 सितंबर तक सर्विलांस अभियान चलाया गया। इसके लिए 1200 टीम लगाई गई थी। टीम ने घर-घर जाकर नियमित टीकाकरण से छूटे बच्चों, गर्भवती व अन्य संभावित बीमार लोगों को चिन्हित किया। नियमित टीकाकरण से वंचित 5690 गर्भवती और 14674 बच्चों को चिन्हित किया गया। जबकि कोविड टीकाकरण से वंचित 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के करीब 1.20 लाख लोग चिन्हित है। सर्दी, जुकाम व कम अवधि से खांसी के लक्षण वाले 2386 तथा सांस लेने में परेशानी के लक्षण वाले 71 लोग मिले हैं। जिसमें से सांस लेने में परेशानी के लक्षण वाले सभी 71 व्यक्तियों तथा सर्दी, जुकाम व कम समय से खांसी के लक्षण वाले 1276 लोगों की जांच 21 सितंबर तक करा दी गई। शेष की भी जांच कराई जा रही है।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. आइए अंसारी ने कहा कि सभी आशा कार्यकर्ता व एएनएम नियमित टीकाकरण से छूटे बच्चों व गर्भवती की ड्यू लिस्ट तैयार कर टीकाकरण सत्र पर बुलाकर टीकाकरण कराएं। साथ ही कोविड टीकाकरण से वंचित लोगों को भी कोविड टीकाकरण सत्र के बारे में जानकारी देकर टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित करें।

Edited By: Jagran